DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मां का दर्द: जानिए आखिर क्यों अपनी किडनी बेचने को मजबूर है ये मां

Agra mother pain

बच्चों के लिए मां कुछ भी करने को तैयार रहती हैं। भले ही उसे कुछ भी करना क्यों न पड़े। आगरा की एक मां ने भी कुछ ऐसा ही करने का ऐलान किया है। आगरा की रहने वाली आरती शर्मा अपने बच्चों की पढ़ाई के लिए अपनी किडनी बेचने को तैयार हो गई हैं। जी हां, इस मां का दर्द इतना बढ़ गया है कि उसे अपने बच्चों की पढ़ाई के लिए अपना गुर्दा बेचने का ऐलान किया है। फेसबुक पर एक पोस्ट बहुत वायरल हो रहा है।  जिसमें आरती ने लिखा है कि, मैं अपने चारों बच्चों की पढ़ाई के लिए अपना गुर्दा बेचना चाहती हूं, आप मुझसे संपर्क कर सकते हैं।

facebook viral letter

आरती का कहना है कि नोटबंदी के दौरान उनके पति की कपड़े की दुकान बंद हो गई थी और उनके घर की हालत बहुत खराब हो गई थी। जिसके बाद उनके बच्चों की स्कूल की फीस भी नहीं दी जा रही थी। स्कूल ने उन्हें बाहर निकाल दिया। आरती ने इस बारे में योगी आदित्यनाथ से अपील की, यहां तक की वो पीएम मोदी से भी अपील कर चुकी हैं। लेकिन सबने बस मुंह से आश्वासन ही दिया है। किसी ने अब तक कुछ नहीं किया। ऐसे में आज ऐसी नौबत आ गई है कि ये मां अपने बच्चों की पढ़ाई के लिए गुर्दा बेचना चाहती है।

आरती के अनुसार उन्होंने जिला प्रशासन से आर्थिक मदद मांगी थी। लेकिन यह नहीं मिल सकी। इसके बाद प्रदेश के सीएम से मिलने लखनऊ जाने का इरादा बनाया। इसमें भी आर्थिक संकट बाधा बना। जैसे तैसे सब्सिडी के सिलेंडर को ब्लैक में बेच कर लखनऊ तक का किराया जमा किया। एक महीने पहले सीएम से मुलाकात तो हो गई। लेकिन अभी तक सहायता नहीं मिल सकी है। 

पति बोले, पत्नी का निर्णय

आरती के पति मनोज शर्मा के अनुसार किडनी बेचने का निर्णय उनकी पत्नी का है। वह खुद किराए का वाहन चला कर चार से पांच हजार रुपये महीने कमाते हैं। इस राशि में मकान का किराया तक नहीं भर पा रहे। मकान मालिक से कमरा खाली करने की धमकी मिली है। उनसे प्रशासन से अपेक्षा के बारे में पूछा गया तो  उन्होंने कहा कि उनको कुछ राशि लोन में मिल जाए तो वह छोटा-मोटा काम शुरू कर देंगे। और गृहस्थी को पटरी पर लाने की कोशिश करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Mother ready to sell her kidney for kids studies, read the letter