DA Image
18 अक्तूबर, 2020|6:41|IST

अगली स्टोरी

मनरेगा- निर्माण श्रमिकों के पंजीकरण को शुल्क माफ

default image

श्रम विभाग में श्रमिकों के पंजीयन, नवीनीकरण के लिए लगने वाला शुल्क व विलम्ब शुल्क, मनरेगा एवं अन्य निर्माण श्रमिकों के लिए पूर्ण रूप से माफ कर दिया गया है। इसका लाभ 30 नवंबर तक मिलेगा।

यह जानकारी देते हुए श्रम प्रवर्तन अधिकारी अशोक कुमार पाण्डेय ने बताया है कि यूपी भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड के तहत श्रम विभाग में मनरेगा एवं अन्य निर्माण श्रमिकों को अभी तक पंजीयन शुल्क रुपये 20 तथा अंशदान शुल्क 20 रुपये प्रतिवर्ष देना पड़ता था। नवीनीकरण कराने में विलम्ब हो जाने पर पांच रुपये प्रतिमाह की दर से विलम्ब शुल्क देना पड़ता था किन्तु कोरोना वायरस कोविड महामारी के चलते बोर्ड के निर्देशों के क्रम में यह प्राविधान किया गया है कि पंजीयन, नवीनीकरण कराने पर शुल्क अब नहीं देना होगा। यहां यह उल्लेखनीय है यह स्पेशल ऑफर के वल 30 नवम्बर तक ही है। उन्होंने सभी पात्र मनरेगा एवं अन्य निर्माण श्रमिक अपने आधार कार्ड, बैंक खाता पास बुक एवं एक वर्ष में 90 दिन काम करने का स्व घोषणा पत्र तथा ओटीपी के लिए मोबाइल लेकर निकटतम जनसेवा केंद्र, सहज जन सेवा केन्द्र अथवा श्रम कार्यालय जाकर अपना पंजीयन, नवीनीकरण बिना किसी शुल्क के करा सकते हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:MNREGA - fee waived for registration of construction workers