minor overflow - नहर फटने से सैकड़ों बीघा फसल जलमग्न DA Image
20 फरवरी, 2020|4:43|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नहर फटने से सैकड़ों बीघा फसल जलमग्न

default image

पिनाहट। सोमवार को चंबल डाल नहर से जुड़ी पिढौरा नहर ओवरफ्लो होने के चलते फट गई। नहर का पानी किसानों के खेत में भर गया। गेहूं की सैकड़ों बीघा फसल जलमग्न हो गई। किसानों ने नष्ट हुई फसल की मुआवजे की मांग की है ।पिढौरा नहर इटावा तक जाती है। सोमवार सुबह गांव जोर रजोरा में नहर का पानी ओवरफ्लो हो गया। नहर फट गई। नहर का पानी किसानों के खेतो में भर गया। किसान राम दयाल, रामचरन, कलियान और रामवीर की चार-चार बीघा, शंकरलाल और जगन्नाथ की पांच-पांच बीघा और कीर्ति राम की 3 बीघा गेहूं की फसल जलमग्न हो गयी । मौके पर पहुंचे किसानों ने नहर के पानी को फावड़े की सहायता से रोकने का प्रयास किया। ग्रामीण रामनिवास ने सिंचाई विभाग को इससे अवगत कराया। नहर को बंद कराया । किसानों ने बताया कि उन्होंने एक माह पूर्व अपने खेत में गेहूं की फसल बोई थी। नहर का पानी भरने के चलते फसलें जलमग्न हो चुकी हैं। गेहूं की फसल जलमग्न होने से आक्रोश व्याप्त है। किसानों ने मुआवजे की मांग की है।इधर एसडीओ चंबल डाल नहर भूपेंद्र सिंह का कहना है कि गांव जोर रजोरा में नहर की पटरी कमजोर होने के चलते टूट गयी थी । नहर से पिढौरा की तरफ जाने वाले पानी को रोक दिया है । बड़ी नहर सुचारू रूप से चल रही है । दो पम्प हाउस चल रहे है़ । टीम को भेजकर टूटी हुई नहर का मरम्मत कार्य होगा।