DA Image
20 सितम्बर, 2020|11:58|IST

अगली स्टोरी

कोविड: सुरसा की मुंह की तरह बढ़ रहे सक्रिय मरीज

default image

आगरा। मुख्य संवाददाता

अगस्त में कोरोना का सबसे ज्यादा असर देखने को ‌मिल रहा है। सक्रिय मरीजों की संख्या सुरसा के मुंह की तरह बढ़ रही है। उपचाररत मरीजों का ग्राफ 14 फीसदी तक पहुंच गया है। ये सभी लोग अस्पतालों में इलाज करा रहे हैं। जबकि पांच फीसदी लोग होम आइसोलेशन में हैं।

दो महीने पहले तक सक्रिय मरीजों की संख्या 50 तक पहुंच गई थी। तब जिला प्रशासन ने स्कूलों को खोले जाने का भी मन बना लिया था, लेकिन कोरोना वायरस ने अचानक ट्रेंड बदला और संक्रमितों की संख्या जिस तेजी के साथ बढ़ी, उसके सापेक्ष स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या में इजाफा नहीं हो पाया। हालात ये होने लगे कि जो कोविड के अस्पताल खाली थे, अब उनमें भी बिस्तर भरने लगे हैं।

पिछले 15 दिनों के आंकड़ों को देखें तो संक्रमित मरीजों की संख्या के सापेक्ष स्वस्थ होने वालों की संख्या काफी कम हो गई है। एक पखवाड़े पहले सैंपल के सापेक्ष स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या 84.25 फीसदी थी। अब ये संख्या 81.63 फीसदी पर है। लगभग छह महीने बाद सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़ने और स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या ‌कम होना चिंता का विषय है।

जिलाधिकारी प्रभु एन सिंह का कहना है कि अगस्त में कोरोना वायरस का ट्रेंड बदलने से सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़ी है। अभी कोविड अस्पतालों में मरीजों के इलाज के लिए पर्याप्त मात्रा में बिस्तर हैं। भविष्य में ज्यादा जरूरत पड़ने पर उनका भी इंतजाम कर लिया जाएगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Kovid Active patients growing like mouth of Sursa