DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इंस्पेक्टर ने कहा तेरहवीं बाद देंगे बयान

दीवानी में हुए दरवेश हत्याकांड में इंस्पेक्टर सतीश यादव के बुधवार को भी बयान दर्ज नहीं हो सके। न्यू आगरा इंस्पेक्टर ने उनसे फोन पर संपर्क किया था। उन्होंने कहा कि वह पीड़ित पक्ष से हैं। दरवेश यादव की तेरहवीं के बाद ही बयान देने आएंगे। वहीं हत्यारोपी दूसरी तरफ मनीष बाबू शर्मा की हालत लगातार खराब हो रही है।

12 जून को उत्तर प्रदेश बार काउंसिल की अध्यक्ष दरवेश यादव की चार गोलियां मारकर हत्या की गई थी। अधिवक्ता डॉ. अरविंद मिश्रा के चैंबर में घटना हुई थी। हत्यारोपी मनीष बाबू शर्मा ने भी हत्या के बाद खुद को गोली मार ली थी। घटना के कई चश्मदीद हैं। मुकदमा सिर्फ मनीष के खिलाफ होता तो पुलिस को इतना माथापच्ची नहीं करना पड़ता। मुकदमे में मनीष की पत्नी वंदना और अधिवक्ता विनीत गोलेच्छा को भी नामजद किया गया है। पुलिस की अभी तक की जांच में दोनों के खिलाफ कोई साक्ष्य नहीं मिला है।

इंस्पेक्टर न्यू आगरा अजय कौशल ने बताया कि मनीष पुलिस अभिरक्षा में है। उसका होश में आने की फिलहाल कोई संभावना नहीं दिख रही है। पहले उसके शरीर में थोड़ा बहुत मूवमेंट था। अब वह भी नहीं रहा है। इंफेक्शन तेजी से बढ़ रहा है। वह वेंटीलेटर पर ही है।

इंस्पेक्टर सतीश यादव को देखकर उसने गोलियां चलाई थीं। आखिर क्यों। इस सवाल का जवाब दो ही लोग दे सकते हैं। मनीष बाबू शर्मा और इंस्पेक्टर सतीश यादव खुद। इंस्पेक्टर ने फिलहाल बयान दर्ज कराने आने से इनकार कर दिया है। उनका कहना है कि दरवेश यादव की अभी तेरहवीं नहीं हुई है। पीड़ित पक्ष पर पुलिस बयान के लिए दबाव नहीं बना सकती है। वह जो जानते थे पुलिस को पहले ही दिन बता दिया था। वह अपना लिखित बयान पुलिस को तेरहवीं के बाद देंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Inspector said statement after thirteenth