DA Image
27 जनवरी, 2021|6:34|IST

अगली स्टोरी

हिन्दुस्तान मिशन शक्तिः ललितेश के लिए कोई नहीं अनाथ

दयालबाग निवासी ललितेश वर्मा गृहिणी हैं, परंतु महिलाओं और बेटियों के लिए कुछ अलग करने का जज्बा रखती हैं। इसी जज्बे को काम में बदलने के लिए उन्होंने चार साल पहले आराध्या फाउंडेशन से जुड़कर समाजसेवा शुरू की। अनाथ बेटियों की शादी, गरीब व बीमार महिलाओं की मदद से शुरू हुआ अभियान लॉकडाउन में अपने घरों को लौट रहे श्रमिकों को भोजन देने तक पहुंचा। लॉकडाउन में श्रमिकों के साथ-साथ शहरी क्षेत्र में रह रहे और भुखमरी की कगार पर पहुंच गए गरीब लोगों को राशन मुहैया कराने के काम में ललितेश वर्मा कई महीने जुटी रहीं। ललितेश कहती हैं कि कोई भूखा न सोए यही उनकी कोशिश रहती है। इस काम को हमारी संस्था अपने प्रयासों से ही अंजाम दे रही है। कोशिश इस कारवां को बहुत आगे तक ले जाने की है। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Hindustan Mission Shakti Nobody orphaned for Lalitesh