DA Image
24 सितम्बर, 2020|9:36|IST

अगली स्टोरी

करनी थी शादी, छा गया मातम

default image

आगरा। हिन्दुस्तान संवाद

नगला किशन लाल में हुए तिहरे हत्याकांड में पूरा परिवार खत्म हो गया। नातेदार घर में शहनाई की तैयारी करते, उससे पहले ही मातम छा गया। किसी ने नहीं सोचा था कि अचानक ये सब हो जाएगा। बबलू के माता-पिता ने लॉकडाउन में उसकी शादी के लिए लड़कियां देखना शुरू किया था। सर्दियों में शादी करने की योजना थी।

मृतक रामवीर के भाई चंद्रभान गुजरात में काम करते हैं। चंद्रभान ने बताया कि उसकी भाई रामवीर से बात होती रहती थी। उनका एक ही बेटा था। वह भतीजे बबलू की शादी धूमधाम से करना चाहते थे। टेढ़ी बगिया और पाय चौकी दो स्थानों पर संबंध देखे थे। इस बार परिवार उसकी शादी की बात को लेकर इकट्ठा होने वाला था। आने वाले सहालग में उसके विवाह की तारीख भी छंटवानी थी। रामवीर शुभ मुहुर्त के लिए भी बात कर रहे थे। घर के अन्य सदस्य बबलू की शादी को लेकर बहुत उत्साही थे, लेकिन किसी को क्या पता था कि भाई का पूरा परिवार हमेशा के लिए सबसे दूर चला जाएगा। चंद्रभान कहते हैं कि काश रात में थोड़ी भी भनक लग जाती तो वह इतना बड़ा कांड होने नहीं देते।

घर पर कैसे हो सकती है हत्या

संतोष की भाभी सत्यवती पत्नी जसवंत ने बताया कि सुभाष सात भाई हैं, जिनमें चार की शादी हो चुकी है। उनका परिवार एक ही मकान में रहता है। घर में बच्चे भी हैं। दो लोगों को घर में लाना और हत्या कर देना बड़ी बात है। उसने बताया कि उन्हें घर में लाकर मारा गया तो हमें या परिवार के अन्य सदस्यों को दिखाई क्यों नहीं दिया। इसकी जानकारी किसी को क्यों नहीं है।

रुपया ले लेते वंश खत्म न करते

रामवीर की बुजुर्ग मां का रो-रोकर बुरा हाल है। मां किरन देवी बार-बार यही बोल रही है कि हत्यारों को रुपया चाहिए था तो वह मांग लेते। परिवार को बंदी बना लेते। हम उनके बदले रुपया दे दे, लेकिन उन्होने तो बेटे को वंश समेत ही खत्म कर दिया। कोई कहीं से भी उन्हें उनका बबलू वापस कर दे। मां रामवीर के घर के सामने वाले मकान में ही रहती है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Had to get married we were mourned