DA Image
4 अगस्त, 2020|8:31|IST

अगली स्टोरी

अरोड़ा की फर्मों का पता लगाएगा ड्रग विभाग

default image

आगरा। वरिष्ठ संवाददाता

पंजाब में नशे की दवाओं की तस्करी करने वाले आगरा गैंग के विक्की अरोड़ा की फर्मों की खोजबीन की जाएगी। ड्रग विभाग को अंदेशा है कि इसकी कई और फर्म हो सकती हैं। गोदाम भी हो सकते हैं। लिहाजा अब विभाग जीएसटी विभाग से मदद लेगा। विभाग से उसके और उसके पिता आदि के नाम पर पंजीकृत फर्मों के बारे में जानकारी ली जाएगी।

बीते दिनों विक्की अरोड़ा को आगरा लेकर आई पंजाब पुलिस ने छापेमारी की थी। उसके कमलानगर स्थित घर में ही दवाओं का जखीरा मिला था। नशीली दवाइयों के 1.20 लाख टैबलेट और कैप्सूल जब्त किए थे। अगले ही दिन उसके दूसरे गोदाम पर छापा मारा गया। यहां भी दवाओं का अकूत भंडार मिला था। यह गोदाम पूरी तरह अवैध था। विभाग से इसका लाइसेंस नहीं लिया गया था। चूंकि अरोड़ा के कारोबार के सभी काजगात पंजाब पुलिस अपने साथ ले गई है। लिहाजा ड्रग विभाग उसके खिलाफ ठोस कार्यवाही की तैयारी कर रहा है। ड्रग इंस्पेक्टर राजकुमार शर्मा ने बताया कि जीएसटी विभाग से फर्मों की जानकारी मांगी गई है।

संजय प्लेस मामले में भी दर्ज होगी रिपोर्ट

पंजाब पुलिस ने ड्रग विभाग को जय हनुमान फार्मा और उसके मालिक लाखन सिंह के बारे में जानकारी दी थी। संजय प्लेस में उसका गोदाम बताया गया था। ड्रग विभाग की छानबीन में गोदाम खाली मिला था। लाखन सिंह के घर का पता भी फर्जी निकला था। इस मामले में दुकान के मालिक ने किरायानामा और शपथ पत्र भी दिखाए थे। उसका कहना था कि लाखन ने दुकान फरवरी में ही खाली कर दी थी। सच्चाई जानने के लिए अब ड्रग विभाग लाखन सिंह के खिलाफ भी रिपोर्ट लिखाने जा रहा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Drug department will find out Arora 39 s firms