DA Image
29 फरवरी, 2020|7:03|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नहीं पता हवा में कितना 'जहर', निगरानी ठप

default image

आगरा। कार्यालय संवाददाता

शहर की हवा में कितना 'जहर' है, इससे सब बेखबर हैं। तीन दिन से वायु प्रदूषण की ऑनलाइन मॉनीटरिंग बंद है। हालांकि इसकी वजह स्पष्ट नहीं है। इंटरनेट सेवा बंद है, इससे भी इसे जोड़ कर देखा जा रहा है। टीटीजेड में निगरानी ठप होने से एयर क्वालिटी इंडेक्स पर आंकड़े नहीं आ रहे।

आगरा देश के सर्वाधिक प्रदूषित शहरों में शुमार है। टीटीजेड में रियल टाइम ऑनलाइन वायु प्रदूषण की निगरानी के लिए सीपीसीबी का नगर निगम परिसर में संयंत्र है। परंतु गुरुवार रात 12 बजे से संयंत्र ठप है। घातक सूक्ष्म कण पीएम-2.5 व अन्य विषैली गैसों के प्रभाव की शहर में स्थिति साफ नहीं है। आगरा के अलावा मेरठ का गंगानगर एक्यूआई स्टेशन और बनारस स्टेशन भी बंद है। सीपीसीबी की नेशनल एयर क्वालिटी इंडेक्स पर यूपी के 10 शहर हैं। जहां रियल टाइम मॉनीटरिंग अनिवार्य है।

रविवार को ग्रेटर नोएडा में घातक सूक्ष्म कणों का स्तर सामान्य से 10 गुना अधिक रहा। यहां पीएम-2.5 कणों की मात्रा 402 से 500 माइक्रोग्राम/घन मीटर तक रही। पीएम-10 कणों की संख्या 346 से 461 माइक्रोग्राम/घन मीटर तक दर्ज की गई। ऐसे हालात आगरा में भी हो सकते हैं, परंतु मॉनीटरिंग ठप होने से डाटा सामने नहीं आ रहा। इस संबंध में यूपीपीसीबी के क्षेत्रीय अधिकारी भुवन यादव ने कहा सिस्टम बंद है, इसकी मुझे जानकारी नहीं। हो सकता है इंटरनेट सेवा बंद होने के कारण भी डाटा एकत्र नहीं हो रहा हो। इसकी जांच कराते हैं।

दिन में खिली धूप, रात में शीतलहर

कड़ाके की ठंड से जूझ रही ताजनगरी में रविवार को खुशनुमा मौसम रहा। सुबह हल्का कोहरा रहा, फिर धूप निकल आई। शनिवार रात 10 बजे कई इलाकों में बूंदाबांदी से गलन बढ़ी। रविवार सुबह आसमान साफ रहा। रविवार को अधिकतम तापमान 19.7 डिग्री सेल्सियस रहा। यह सामान्य से चार डिग्री नीचे रहा। रात में न्यूनतम तापमान आठ डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। मौसम विभाग के मुताबिक 23 व 24 दिसंबर को आसमान में बादल छाए रहेंगे। हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। सप्ताहभर घना कोहरा छाया रहेगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: Do not know how much poison in the air monitoring stalled

संबंधित खबरें