DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › आगरा › नामचीन मिष्ठान विक्रेता के किचिन में मिली गंदगी
आगरा

नामचीन मिष्ठान विक्रेता के किचिन में मिली गंदगी

हिन्दुस्तान टीम,आगराPublished By: Newswrap
Mon, 11 Oct 2021 07:45 PM
नामचीन मिष्ठान विक्रेता के किचिन में मिली गंदगी

दशहरा/दीपावली के नजदीक आते ही खाद्य सुरक्षा विभाग सक्रिय हो गया है। मिलावटी खाद्य पदार्थों के खिलाफ अभियान शुरू करते ही एफएसडीए ने सोमवार को बाईपास रोड स्थित एक नामचीन मिष्ठान विक्रेता के यहां छापा मारा। मौके पर जांच के दौरान किचिन में टीम को गंदगी मिली। फिर टीम ने मिष्ठान विक्रेता के यहां से 11 खाद्य वस्तुओं के सैंपल लिए। विभागीय टीम ने किचिन में गंदगी मिलने पर चेतावनी देते हुए तुरंत व्यवस्थाओं में सुधार के निर्देश दिए।

एफएसडीए के जिला अभिहीत अधिकारी अमित कुमार सिंह के नेतृत्व में सोमवार दोपहर उनकी टीम ने बाईपास रोड स्थित नामचीन मिष्ठान विक्रेता के यहां छापा मारा। मिष्ठान विक्रेता के यहां रेस्टोरेंट भी संचालित होता है। रेस्टोरेंट में 100 से भी अधिक तरीके के खानपान परोसे जाते हैं। टीम ने पहुंचते ही सबसे पहले किचिन का निरीक्षण किया। यहां गंदगी मिली। सामान खुले में रखा हुआ था। यहां-वहां पानी फैला हुआ था। एफएसडीए ने प्रबंधन को चेतावनी देते हुए किचिन में साफ-सफाई रखने के निर्देश दिए। अमित कुमार सिंह ने बताया कि उनकी टीम ने मौके से हल्दी, प्रिमिक्स मसाला सांभर, चावल, नवरात्र पापड़ी, संदेश मिठाई, घी, दही, पनीर, चाट पापड़ी, आलू पापड़ व पकौड़ी प्रिमिक्स के एक-एक सैंपल भी भरे। सभी सैंपलों को जांच के लिए प्रयोगशाला भेज दिया है। छापा मारने वाली टीम में मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी राम आशीष मौर्या, एफएसओ अवधेश पाराशर, राम लखन कुशवा, निशिकांत, अजीत आदि शामिल रहे।

त्योहार में ही नजर आती है एफएसडीए की टीम

खाद्य कारोबारी एफएसडीए की कार्यप्रणाली से खासे नाराज हैं। कारोबारियों का कहना है कि कोरोना के चलते बीते डेढ़ साल से कारोबार पूरी तरह खत्म हो गया है। त्योहार पर कुछ कमाई की उम्मीद है तो एफएसडीए टीम आकर छापा मारने के नाम पर उत्पीड़न करती है। कारोबारी राजीव अग्रवाल का कहना है कि एफएसडीए के लोग जबरन कमियां निकालकर शोषण करते हैं। सरकार को कारोबारियों के उत्पीड़न पर संज्ञान लेते हुए एफएसडीए की लगाम कसनी चाहिए।

संबंधित खबरें