अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आगरा: प्रेसवार्ता कर रहे कथावाचक देवकीनंदन ठाकुर को पुलिस ने हिरासत में लिया

अखंड इंडिया मिशन’ के राष्ट्रीय अध्यक्ष और जाने-माने कथावाचक ठाकुर देवकीनंदन को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। भारी सुरक्षा के बीच उन्हें समर्थकों के साथ पुलिस लाइन भेज दिया गया। पुलिस ने तर्क दिया कि उन्होंने प्रतिबंध के बावजूद आगरा में प्रवेश ही नहीं किया बल्कि सभा और  प्रेस कॉन्फ्रेंस भी की। देर शाम निजी मुचलके पर रिहा कर उन्हें मथुरा के लिए रवाना कर दिया गया। श्री ठाकुर एससी/एसटी ऐक्ट में बदलाव के विरोध में चल रहे देशव्यापी सवर्ण आंदोलन का मुख्य चेहरा बनकर उभरे हैं।
गिरफ्तारी के समय पुलिस कस्टडी में ठाकुर देवकीनंदन ने कहायह लोकतंत्र की हत्या है। लोकतंत्र में सभी को अपनी बात रखने का अधिकार है लेकिन पुलिस ने ऐसा नहीं करने दिया। उन्हें बंद कमरे में अपने साथियों से बात करने से भी रोक दिया, जबकि वह लोग शालीनता से अपनी बात रख रहे थे। गिरफ्तारी के बाद उन्हें भारी सुरक्षा के बीच पुलिस वाहन से पुलिस लाइन ले जाया गया। ठाकुर देवकी नंदन और समर्थकों को करीब एक घंटे बैठाकर रखा गया। उनकी गिरफ्तारी की खबर लगते ही उनके समर्थकों के साथ सर्व समाज संघर्ष समिति के सदस्य बड़ी संख्या में पुलिस लाइन पहुंच गए। दबाव  के चलते पुलिस ने देर शाम देवकीनंदन को शांति भंग की धारा 151 में मुचलका भरवाकर शाम पांच बजे रिहा कर दिया गया।
खंदौली में होनी थी पंचायत
ठाकुर देवकीनंदन की 11 सितंबर को खंदौली में पंचायत प्रस्तावित थी मगर पुलिस के अनुमति न देने के कारण आयोजन निरस्त कर दिया गया। खंदौली में पीएसी और पुलिस तैनात कर दी। पूरे क्षेत्र को छावनी बना दिया गया। इससे पहले नौ सितंबर को सैमरा में भी सवर्ण महापंचायत के कारण तनाव पैल गया था। पुलिस ने महापंचायत निरस्त कर दी थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Devkinandan Thakur released after taken in custody in Agra