DA Image
Monday, November 29, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश आगराएनडीए में पहली बार बेटियों ने दिखाया दम

एनडीए में पहली बार बेटियों ने दिखाया दम

हिन्दुस्तान टीम,आगराNewswrap
Sun, 14 Nov 2021 07:30 PM
एनडीए में पहली बार बेटियों ने दिखाया दम

आगरा। नेशनल डिफेंस एकेडमी के सफर पर पहली बार बेटियां निकलीं। एनडीए में जाने को पहली बार बेटियों ने परीक्षा दी। संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की ओर से नेशनल डिफेंस एकेडमी (एनडीए) की परीक्षा रविवार को कराई गई। इसके साथ ही कम्बाइन डिफेंस सर्विस (सीडीएस) की परीक्षा भी रविवार को तीन पालियों में आयोजित की गई।

जनपद में परीक्षा के लिए 40 केंद्र बनाए गए थे। एनडीए की परीक्षा दो पालियों में आयोजित की गई। परीक्षा के दौरान कोविड गाइडलाइन का पालन किया गया। सुबह 9 बजे से ही सभी परीक्षा केंद्रों पर परीक्षार्थी पहुंच गए। जिन केंद्रों पर बेटियों को वहां पर परीक्षा देनी थी, उनके आसपास का माहौल कुछ खास था। अपनी बेटियों को देश की सैन्य सेवा का हिस्सा बनाने की परीक्षा दिलाने अभिभावक साथ पहुंचे। सुबह 10 बजे से पहली पाली में परीक्षा शुरू हुई, जो दोपहर 12.30 बजे खत्म हुई। वहीं दूसरी पाली की परीक्षा दोपहर दो बजे से 4.30 बजे तक आयोजित की गई। पहली पाली में छात्रों की गणित ने परीक्षा ली। पेपर में छात्रों को त्रिकोणमिती ने खूब परेशान किया। बड़ी संख्या में छात्रों को पेपर औसत से अधिक कठिन लगा। दूसरी पाली का पेपर देखकर छात्रों ने राहत की सांस ली। छात्रों को दूसरा पेपर आसान लगा। एनडीए की परीक्षा में 18 हजार से अधिक छात्र पंजीकृत थे।

एनडीए में लड़कियों को मौका देने का फैसला अच्छा है। एनडीए की परीक्षा देने का सपना पूरा हुआ। पहले पेपर में त्रिकोणमिती कठिन थी, लेकिन दूसरा पेपर आसान रहा।

प्रिया सिंह 

एनडीए में लड़कियों को भी शामिल होने का मौका दिया गया। प्रथम पाली का पेपर अपेक्षा से अधिक कठिन आया था। दूसरे पेपर में भौतिक संबंधी प्रश्न अधिक आए थे।

कनिष्का चाहर 

सेना में जाने का सपना है। एनडीए में लड़कियों को अवसर दिया गया। मैंने इससे पहले कभी कोई प्रतियोगी परीक्षा नहीं दी। इस परीक्षा की तैयारी के लिए अधिक समय भी नहीं मिला था। 

अनुपमा कुशवाह

यह पहली परीक्षा है जिसमें लड़कियां शामिल हुई हैं। एनडीए में भी बेटियों को बराबर का अवसर दिया गया है। पेपर में प्रश्न थोड़े कठिन थे। गणित के कुछ प्रश्नों ने उलझाया।

सुरभि

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें