DA Image
24 सितम्बर, 2020|4:49|IST

अगली स्टोरी

गारमेंट हब को लेकर चैंबर का मंथन

default image

नेशनल चैंबर ऑफ इंडस्ट्रीज एंड कॉमर्स के जीवनी मंडी स्थित परिसर में मंगलवार को आयोजित बैठक में गारमेंट हब पर मंथन किया गया। इस प्रोजेक्ट के निविदाकर्ता अशोक गोयल के साथ ही उत्तरी क्षेत्र से विधायक पुरुषोत्तम खंडेलवाल ने उद्यमियों के साथ विस्तार से चर्चा की। हर संभव सहयोग के लिए आश्वस्त किया।

केसी जैन ने बताया कि इस प्रोजेक्ट की सफलता भूमि आवंटन पर निर्भर करेगी। जब तक यूपीसीडा द्वारा भूमि आवंटित नहीं होती है, तब तक टेक्सटाइल पार्क/ गारमेंट हब को अमल में लाना मुश्किल है। सरकारी भूमि के आवंटन पर 50 फीसदी सब्सिडी भी योजना के अंतर्गत अनुमन्य है, जिसके मिलने से भूखंड कम दर पर उपलब्ध हो सकेंगे। रिंग रोड पर स्थित थीम पार्क की एक हजार एकड़ भूमि से भी अधिक भूमि उपलब्ध है। इसमें यह प्रोजेक्ट बन सकता है।

प्रदेश के टेक्सटाइल विभाग और यूपीसीडा को इस संबंध में पहल करने के लिए अनुरोध करना होगा। अशोक गोयल समूह द्वारा अपनी डीटेल्ड प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) 45 दिन में दाखिल करनी होगी। चैंबर की तरफ से उनको हर संभव सहयोग का आश्वासन दिया गया। अपेक्षा की गई कि प्रस्तावित टेक्सटाइल पार्क आधुनिकतम सुविधाओं से युक्त होगा। इस अवसर पर विधायक से औद्योगिक भूखंडों को फ्रीहोल्ड कराने व औद्योगिक एवं वाणिज्यिक भवनों पर संपत्ति कर की दर को कम कराने का भी अनुरोध किया। बैठक में अध्यक्ष राजीव अग्रवाल, राजेन्द्र गर्ग, योगेश जिंदल, मयंक मित्तल आदि शामिल रहे।