DA Image
30 नवंबर, 2020|8:03|IST

अगली स्टोरी

29 लाख की धोखाधड़ी में कारोबारी का एकाउंटेंट गिरफ्तार

default image

आगरा। जूता कारोबारी के खाते से फर्जी हस्ताक्षर करके 29 लाख रुपये निकालने वाला एकाउंटेंट शनिवार को दो साल बाद पकड़ा गया। मुकदमे के बाद वह फरार हो गया था। हाल ही में उसके बारे में पुलिस को जानकारी मिली थी। उसके बाद पुलिस एक बार फिर उसके पीछे लग गई। आरोपित जयपुर में बस गया था।

इंस्पेक्टर हरीपर्वत अजय कौशल ने बताया कि सूर्य नगर, निवासी सुरेश थापर की एसवी शूज एंटरप्राइजेज के नाम से फर्म है। उनका बैंक खाता भारतीय स्टेट बैंक, संजय प्लेस में है। खाते में लेन-देन पार्टनर सुरेश थापर और रितिश थापर के हस्ताक्षर से होता था। कर्मजीत ‌सिंह फर्म में एकाउंटेंट के पद पर तैनात था। अगस्त 2017 से मार्च 2018 के बीच चेक के माध्यम से खाते से 29 लाख रुपये निकाले गए। चेक पर मालिक के फर्जी हस्ताक्षर किए गए थे।

इस संबंध में जुलाई 2018 को हरीपर्वत थाने में धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया गया था। पुलिस पकड़ती इससे पहले आरोपित कर्मजीत सिंह फरार हो गया था। पुलिस ने उसे खूब तलाशा मगर कोई सुराग नहीं मिला। उसके बाद यह मामला ठंडे बस्ते में डाल दिया गया। एसएसपी ने लंबित विवेचनाओं के निस्तारण के निर्देश दिए थे। पुलिस ने इस मुकदमे में एक बार फिर नए सिरे से छानबीन शुरू की। पुलिस को पता चला कि आरोपित कर्मजीत सिंह कभी-कभी अपने परिजनों से मिलने घर आता है। उसका घर ट्रांसयमुना कॉलोनी में है। वह रात को आता है और घर में ही रहता है। बाद में रात के अंधेरे में ही लौट जाता है। पुलिस ने इस बार उसके घर के बाहर ही खबरी को सक्रिय कर दिया। शनिवार को पुलिस को खबर मिली कि आरोपित आया हुआ है। पुलिस ने घर पर दबिश दी। आरोपित मिल गया। उसे रविवार को जेल भेज दिया गया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Business accountant arrested for fraud of Rs 29 lakh