DA Image
23 नवंबर, 2020|7:45|IST

अगली स्टोरी

ताज की टिकटों की कालाबाजारी, एक को जेल भेजा

default image

- पश्चिमी गेट पर सैलानियों को ज्यादा दामों में दे रहा था प्रिंट

- प्रिंटर से प्रिंट देने वाले युवक को माफी मांगने पर छोड़ा गया

आगरा। मुख्य संवाददाता

मोहब्बत की निशानी ताज पर दाग लगाने वाले काबू में नहीं आ रहे हैं। पहले लपकों की छीना-झपटी से यहां की छवि खराब होती थी। पुलिस, प्रशासन और एएसआई की कार्रवाई के बाद लगाम लगी तो उन्होंने दूसरा रास्ता खोज निकाला। लपकों ने अब ताजमहल की टिकटों की कालाबाजारी शुरू कर दी है। पहले से ही टिकटें बुक कर लेते हैं। फिर उनका प्रिंट निकाल कर ऊंचे दामों पर सैलानियों को बेचते हैं। पर्यटन थाना पुलिस ने रविवार सुबह ताजमहल के पश्चिमी गेट से एक लपके को टिकटों की कालाबाजारी करते हुए गिरफ्तार किया। उसे जेल भेजा है। वहीं लपके को टिकट का प्रिंट निकाल कर देने वाले युवक को माफीनामा लेने के बाद छोड़ा गया।

ताजमहल में पर्यटकों की संख्या निर्धारित किए जाने के बाद लपके सक्रिय हो गए हैं। टिकट बुक करा लेने के कारण बाहर से आने वाले सैलानी बुकिंग कराने से वंचित हो जाते हैं। पिछले दो दिनों से दोपहर एक बजे तक ताजमहल की टिकटें बुक हो रहीं हैं। पुरातत्व विभाग की ओर से इस तरह की गड़बड़ी किए जाने की शिकायत के बाद पर्यटन थाना पुलिस सक्रिय हो गई। पर्यटन थाना प्रभारी इकबाल हैदर के नेतृत्व में पुलिस फोर्स ने पश्चिमी गेट के निकट से सलमान उद्दीद को टिकट का प्रिंट बेचते गिरफ्तार कर लिया। उन्होंने बताया कि मलको गली के पास रहने वाले राज और उसकी पत्नी को उसके घर से प्रिंटर के माध्यम से प्रिंट निकालने पर पूछताछ की गई। मामले में उसने माफीनामा लिखकर दिया। उसे समझा दिया है कि भविष्य में दोबारा यह काम किया तो कड़ी कार्रवाई होगी। पर्यटन थाना प्रभारी ने बताया कि ताजमहल के आसपास इस तरह की गतिविधि रोकने को कई लोगों के यहां छापेमारी भी की गई।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Black marketing of Taj tickets one sent to jail