ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश आगराआयुष्मान कार्ड बनाने को 70 बायोमेट्रिक मशीनों का इंतजाम

आयुष्मान कार्ड बनाने को 70 बायोमेट्रिक मशीनों का इंतजाम

आयुष्मान कार्ड बनाने में धीमी गति को रफ्तार देने के लिए ब्लाकों पर 70 बायोमेट्रिक मशीनें उपलब्ध कराई गई हैं। इस काम में पंचायत सहायकों को भी लगाया...

आयुष्मान कार्ड बनाने को 70 बायोमेट्रिक मशीनों का इंतजाम
हिन्दुस्तान टीम,आगराTue, 28 Nov 2023 10:45 PM
ऐप पर पढ़ें

आयुष्मान कार्ड बनाने में धीमी गति को रफ्तार देने के लिए ब्लाकों पर 70 बायोमेट्रिक मशीनें उपलब्ध कराई गई हैं। इस काम में पंचायत सहायकों को भी लगाया गया है। गांवों के राशन डीलरों से समन्वय बनाकर कार्ड बनाने में सहयोग लेने के निर्देश दिये गये हैं। यह काम सात ब्लॉकों के क्षेत्र मे चलेगा।

मंगलवार को कलक्ट्रेट सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति में स्वास्थ्य कार्यों की समीक्षा करते हुए डीएम सुधा वर्मा ने दिशा निर्देश दिये। डीएम ने आयुष्मान कार्ड की प्रगति बेहद खराब होने पर कड़ी नाराजगी जताई। डीएम ने निर्देश दिये कि, स्वास्थ्य कार्यक्रमों में मण्डल और प्रदेश की रैंकिंग में जिले की स्थिति सुधारें। सभी सूचनाएं पोर्टल पर डाटा फीडिंग का कार्य शतप्रतिशत किया जाये। उन्होने निर्देश दिये कि, सभी एमओआईसी अपने-अपने क्षेत्र में आयुष्मान कार्ड बनाने के कार्य में तेजी लायें।

कोटेदारों से समन्वय बनाकर पात्रों के आयुष्मान कार्ड बनवाये जायें। हर ब्लाक को लक्ष्य दिया जाये। इस कार्य में लगे हुए समस्त अधिकारी, कर्मचारियों को लक्ष्य आवंटित कर कार्य करायें। घर घर जाकर कार्ड बनाये जाने हैं। स्वास्थ्य विभाग स्वयं अपने स्टाफ की जिम्मेदारी तय करें। कार्य में ढिलाई बरतने पर सम्बंधितों का एक दिन का वेतन काट दिया जायेगा।

टीकाकरण में ढील बरतने पर होगी कार्यवाही

डीएम ने जननी सुरक्षा योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि लाभार्थियों एवं आशा कार्यकत्रियों के मानेदय का भुगतान समय से किया जाये। बच्चों का नियमित टीकाकरण समय से कराया जाये। किसी भी दशा में बच्चे टीकाकरण से नहीं छूटना चाहिये। ब्लाक सोरों में नियमित टीकाकरण से बच्चों के छूट जाने तथा ब्लाक सहावर में कम बच्चों का वैक्सीनेशन होने पर डीएम ने नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि एमओआईसी स्वयं चैक करें कि आशायें सही ढंग से कार्य कर रही हैं या नहीं। संस्थागत प्रसव को बढ़ाने के साथ ही कम वजन के बच्चों का चिन्हांकन कर समय से उनको समुचित उपचार उपलब्ध करायें।

एनआरसी में 99 बच्चों का उपचार हुआ

बैठक में सीएमओ डा. राजीव अग्रवाल ने बताया गया कि जिला अस्पताल में संचालित एनआरसी में रैफर 99 बच्चों को उपचार दिया गया। यूनीसेफ प्रतिनिधि द्वारा बताया गया कि नियमित टीकाकरण से छूटे बच्चों का टीकाकरण कराने के लिये अभिभावकों को जागरूक किया गया है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें