DA Image
20 नवंबर, 2020|5:20|IST

अगली स्टोरी

गोस्वामी तुलसीदास की जन्मस्थली राजापुर कहने पर सोरों में नाराजगी

default image

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्नाथ के द्वारा चित्रकूट में गोस्वामी तुलसीदास की जन्मभूमि के संबंध में बोले गए शब्दों पर सोरों में तीखी प्रतिक्रिया हुई है। तीर्थ नगरी के लोगों का मानना है कि गोस्वामी तुलसीदास का जन्म सोरों में हुआ था। इस बात के पुख्ता प्रमाण है। अखंड आर्यावर्त निार्मण संघ ने मुख्यमंत्री को भेजे पत्र में कहा है कि गोस्वामी तुलसीदास के सोरों में जन्मने के आकाट्य प्रमाण मौजूद हैं।

रविववार को अखंड आर्यावर्त निर्माण संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष भूपेश शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री ने चित्रकूट के दौरे पर महर्षि वाल्मीक व तुलसीदास की जन्मस्थली को जोड़े जाने और उसके विकास की बात कही है। जबिक गोस्वामी तुलसीदास की जन्मस्थली सोरों ही है। अंग्रेजों के गजेटियर, साहित्यकारों के मत और तुलसीदास के गुरु नरसिंह जी की पाठशाला आज भी सोरों में हैं। मुख्यमंत्री चाहें तो सोरों व गोस्वामी तुलसीदास के संबंध में जानकारी अपने जनप्रतिनिधयों से ले सकते हैं। सरकार यदि तुलसीदास के जन्मस्थली के रूप में राजापुर को विकसित करेगी तो सोरों के लोग आंदोलन को विवश होंगे। जिसकी जिम्मेदारी सरकार की होगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Anger among the people for calling Goswami Tulsidas 39 s birthplace Rajapur