DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आगरा में ट्रैक्टर में टक्कर पांच जिंदा जले, तीन दर्जन से अधिक घायल

1 / 6आगरा में हाईवे पर टैंकर में लगी आग।

2 / 6आगरा में हाईवे पर टैंकर में लगी आग।

3 / 6आगरा में हाईवे पर टैंकर में आग लगने के बाद पीड़ितों को बचाते पुलिसकर्मी।

4 / 6आगरा में हाईवे पर टैंकर में आग लगने के बाद पीड़ितों को बचाते पुलिसकर्मी।

5 / 6आगरा में हाईवे पर टैंकर में आग को बुझाते पुलिसकर्मी।

6 / 6आगरा में हाईवे पर टैंकर में आग लगने के बाद पीड़ितों को ले जाते पुलिसकर्मी।

PreviousNext

आगरा-दिल्ली हाईवे पर गुरुवार की रात आनंद इंजीनियरिंग कॉलेज के सामने ट्रैक्टर ट्राली से टक्कर के बाद टैंकर में आग लग गई। चपेट में आए ट्रॉली में सवार पांच ग्रामीण जिंदा जल गए। तीन दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए। दुर्घटना स्थल पर चीखपुकार मच गई। हादसे से गुस्साए ग्रामीणों ने हाईवे पर बवाल कर दिया। पुलिस पर पथराव हुआ। जाम लग गया। जैसे-तैसे स्थिति पर काबू पाया जा सका।
घटना रात करीब साढ़े नौ बजे की है। अवागढ़ (एटा) के गांव सिकरारी, रुबी का नगला,निकोहा से आठ दर्जन ग्रामीण गोवर्धन परिक्रमा लगाने जा रहे थे। वे दो ट्रैक्टर-ट्राली में सवार थे। मां वैष्णवी ढाबे पर ग्रामीणों ने खाने के लिए ट्रैक्टर रोके।  ट्रैक्टर-ट्राली सड़क किनारे खड़े थे। रूनकता की तरफ से आ रहे एक टैंकर ने ट्राली में टक्कर मार दी। जोर का धमाका हुआ और टैंकर के अगले हिस्से में आग लग गई। कोई कुछ करता इससे पहले ट्राली में सवार कई ग्रामीण आग की चपेट में आ गए। चार जिंदा जल गए। दो को ग्रामीणों ने टैंकर के पास से हटा लिया था लेकिन वह बच नहीं सके। करीब तीन दर्जन से अधिक ग्रामीण गंभीर रूप से घायल हो गए। इनको इलाज के लिए आसपास के अस्पतालों में भेजा गया। एसएन इमरजेंसी में घायलों को भेजा गया। आग की चपेट में विवेक और चिक्का की मौत जल गए। ग्रामीण भूप सिंह और अमर ने टैंकर की चपेट में और आग लगने से दम तोड़ दिया। एक अन्य ग्रामीण ने देर रात उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। ग्रामीणों ने जैसे-तैसे घायलों को बाहर निकाला। पुलिस और फायर ब्रिगेड को सूचना दी गई। दोनों के आने में समय लगाया तो भीड़ आक्रोशित हो गई। पुलिस आई तो उस पर पथराव कर दिया। सिकंदरा थाने से पहुंचे पुलिस बल ने जैसे-तैसे स्थिति को संभाला।  शवों को पोस्टमार्टम हाउस भेजा गया। 
भरा होता टैंकर तो मर जाते कई
गुरुवार की रात हाईवे पर हादसा और गंभीर हो सकता था। इंस्पेक्टर सिकंदरा के अनुसार टैंकर खाली था। उसमें पेट्रोल या डीजल भरा होता तो हादसा और गंभीर हो सकता था। आग पर कुछ ही देर में काबू पा लिया गया था। आग टैंकर के अगले हिस्से में लगी थी। टैंकर भरा होता तो आग भीषण होती। पास में स्थित ढाबा तक नहीं बचता। सब कुछ स्वाहा हो जाता। ऐसा ही एक हादसा एक बार जयपुर हाईवे पर हुआ था। ढाबे में मौजूद लोग भी जिंदा जल गए थे।
कई लोग हुए गंभीर रूप से घायल
दुर्घटना में कई लोग गंभीर रूप से घायल हुए है। एक बच्ची की स्थिति नाजुक बनी हुई है। ग्रामीणों ने घायलों को उपचार के लिए निजी अस्पताल में भर्ती कराया। एक अस्पताल में दो दर्जन और एक अन्य अस्पताल में 12 ग्रामीणों को उपचार के लिए भर्ती कराया गया। इसके अलावा एसएन इमरजेंसी में भी घायलों को भेजा गया है। 
दुर्घटना के बाद कुछ नहीं दिखा
टैंकर के टक्कर मारने के बाद ट्राली में सवार दर्जनों ग्रामीण सड़क किनारे पर गिर पड़े। अधिकतर बुर्जुग होने की वजह से उठ तक नहीं पा रहे थे। टैंकर में भयंकर आग लगने से क्षेत्र में हड़कंप मच गया। ग्रामीणों की आग देखकर चीख निकल गई। आसपास के लोगों ने जैसे-तैसे सड़क किनारे पड़े ग्रामीणों को टैंकर से दूर किया। अन्य ट्रैक्टर बुलाकर घायलों को इलाज के लिए ले जाया गया। 
बढ़ सकती है मरने वालों की संख्या
दुर्घटना में घायल कई लोगों की स्थिति नाजुक बनी हुई है। इन लोगों का उपचार चल रहा है। एक बच्ची को एसएन इमरजेंसी में भर्ती कराया गया। यहां पर चिकित्सक इलाज करने में जुट गए। घायलों की हालत देखकर मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है। पुलिस देर रात तक मरने वालों की संख्या चार बता रही है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:5 burnt alive on Agra-Delhi highway due to an accident