DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

13 लाख मरीज देख आगरा के डॉक्टर ने किया गिनीज बुक के लिए दावा

13 लाख मरीज देख आगरा के डॉक्टर ने किया  गिनीज बुक के लिए दावा

शहर के नामचीन होम्योपैथ डॉ. पार्थसारथी शर्मा ने गिनीज बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड में फिर दावा किया है। वह 25 साल में 13 लाख से भी ज्यादा मरीजों का उपचार कर चुके हैं। सबसे कम आयु में 62 हजार मरीज देखने के लिए डा. पार्थसारथी का नाम गिनीज बुक में पहले ही दर्ज है। सन् 2000 में डा. पार्थसारथी को होम्यो रतन से विभूषित किया गया। सन 2010 और 2013 में उन्होंने इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड में अपनी प्रविष्टि कराई। सन 2013 में एशिया बुक ऑफ रिकार्ड में अपना नाम दर्ज कराया। इसी साल सबसे ज्यादा मरीजों के उपचार के विश्व रिकार्ड की बदौलत यूके की यूनिवर्सिटी ने उनको मानद डॉक्टरेट की उपाधि दी। सन 2016 में उनका नाम लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड में दर्ज हुआ। डा. पार्थसारथी का नाम पहली बार सन 1998 में 62,481 मरीजों के उपचार के लिए गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में दर्ज हुआ था। गुरुवार को आयोजित प्रेस वातार् में डा. पार्थसारथी ने 25 साल में 13 लाख मरीजों के उपचार की जानकारा दी। उन्होंने बताया कि 1998 में दर्ज उनके रिकार्ड को कोई नहीं तोड़ सका है। लीडर्स आगरा ने दी बधाई लीडर्स आगरा के महामंत्री सुनील जैन ने डा. पार्थसारथी शमार् को इस उपलब्धि के लिए बधाई दी। भविष्य में भी ताजनगरी का नाम रोशन करने की उम्मीद जताई। सुनील जैन ने बताया कि डा. पार्थसारथी ने जयपुर हाउस स्थित पृथ्वीचंद चेरिटेबिल होम्योपेथिक औषधालय में जनसेवा करते हुए मरीजों का उपचार किया है। शहर में दो और गिनीज बुक रिकार्ड होल्डर आगरा। महानगर में दो और हस्ती गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड्स में नाम दर्ज करा चुकी हैं। ये हैं दिनेश शांडिल्य और आकाश गुप्ता। दिनेश शांडिल्य का नाम सबसे लंबी बांसुरी बजाने और आकाश गुप्ता का लगातार सबसे अधिक समय तक हारमोनियम बजाने के लिए गिनीज बुक में दर्ज है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:13 lakh patients saw Agra doctor's claim for Guinness Book