DA Image
29 मार्च, 2020|5:21|IST

अगली स्टोरी

  • सुधीर पचौरी

    अपनी हिंदी बड़ी ही अद्भुत भाषा है। उसे जितना पढ़िए, उतना गढ़िए। जितना सुनिए, उतना बुनिए। जितना रचिए, उतना ही सिरजिए। उतने ही सुखदाश्चर्य से भरते; मरते जाइए। यहां ‘कहा’ कुछ जाता है,...

    Sun, 05 May 2019 12:34 AM Tirchi Najar Hindustan Column
  • सुधीर पचौरी

    कुछ ने कहा- इनको हराओ। कुछ ने कहा- इनको जिताओ। मैंने ली तीसरी लाइन। वही ‘मंथरा आंटी’ वाली लाइन कि कोउ नृप होउ हमहि का हानी/ चेरि छाड़ि अब होब कि रानी। लेखक इधर दस्तखत करते रहे, उधर दस्तखत...

    Sat, 27 Apr 2019 11:32 PM Tirchi Najar Hindustan Column
  • सुधीर पचौरी

    नेता बदले तो ठीक, अभिनेता बदले तो ठीक, विक्रेता बदले तो ठीक, क्रेता बदले तो भी ठीक। कल तक जो सेकुलर था, अचानक कम्यूनल पाले में चला गया तो ठीक। जो कल तक कम्यूनल था, वह सेकुलर पाले में आ गया तो ठीक।...

    Sat, 20 Apr 2019 09:58 PM Tirchi Najar Hindustan Column
  • सुधीर पचौरी

    ‘वे उन गिने-चुने कवियों में से हैं, जो आज के जीवन के बहुत से अनकहे अनुभवों को अद्भुत सादगी से कह सकते हैं।’ यह एक काव्य संकलन की एक ‘समीक्षा’ से लिया गया एक वाक्य है। अब जरा...

    Sun, 14 Apr 2019 01:46 AM Tirchi Najar Hindustan Column
  • सुधीश पचौरी हिंदी साहित्यकार

    एक बार फिर अपने लेखक अपने मोरचे पर हैं। दो सौ लेखकों ने अपने सिग्नेचर करके जनता को प्रबोधा है कि ‘हेट’ की राजनीति के खिलाफ वोट करें और बहुलतावादी ‘जनतंत्र’ और...

    Sat, 06 Apr 2019 11:39 PM Tirchi Najar Hindustan Column Tirchi Najar
  • सुधीर पचौरी

    इन दिनों कुछ भी लिखना मुश्किल लगता है। मेरी जगह कोई और लेखक होता, तो ऊंची हांकता कि मैं इन दिनों एक नई ‘जमीन फाड़ू’ कविता लिखने में बिजी हूं। डिस्टर्ब न करें। मैं कठिन...

    Sun, 31 Mar 2019 07:28 AM Tirchi Najar Hindustan Column
  • सुधीर पचौरी

    ‘लिखना’ कठिन होता जा रहा है। ‘ऐसा’ लिखता हूं, तो सोचने लगता हूं, वह क्या सोचेंगे और ‘वैसा’ लिखता हूं, तो सोचने लगता हूं कि यह क्या सोचेंगे? डर लगता है कि जाने कौन...

    Sat, 16 Mar 2019 11:58 PM Tirchi Najar Hindustan Column
  • सुधीश पचौरी हिंदी साहित्यकार

    अपनी दिल्ली लेखकों की सबसे बड़ी ‘हाट’ है। यहीं साहित्य की आजादपुर मंडी है, जहां साहित्य के भाव रोज खुलते और बंद होते हैं। यहां सभी ‘क्लास’ के, सभी ‘स्तर’ के, सभी...

    Sat, 09 Mar 2019 11:40 PM Tirchi Najar Hindustan Column
  • सुधीर पचौरी

    आप मुझे महान बनाएंगे। मैं आपको महान बनाऊंगा। जितनी देर आप महान बनाएंगे, उतनी देर मैं आपको महान बनाऊंगा। जिस तरह से आप महान बनाएंगे, वैसे ही आपको महान बनाऊंगा। जहां आप महान बनाएंगे, वहां मैं भी आपको...

    Sat, 02 Mar 2019 11:51 PM Tirchi Najar Hindustan Column
  • सुधीर पचौरी

    यह क्या हुआ? जिन मोदी जी को हिंदी के प्रगतिशील साहित्यकार नापसंद करते हैं, उन्हीं को नामवर जी ‘प्रिय’ नजर आए। उन्होंने ऐन टाइम पर नामवर जी को श्रद्धांजलि दे दी और सारी खबर लूट ली। जब से...

    Sat, 23 Feb 2019 10:15 PM Tirchi Najar Hindustan Column

चुटकुले

जब पति ने पूछा,आज खाने में क्या बना रही हो?

पति - आज खाने में क्या बना रही हो?
पत्नी - आलू की सब्जी बना रही हूं!
पर मुझे ये समझ नहीं आ रहा है कि 
आलू अभी तक पके क्यों नहीं! 
.
.
पति - तो तुम ऐसा क्यों नहीं करती!
पत्नी - क्या करूं?
पति - तुम थोड़ी देर आलू से बातें करके देखो, 
शायद पक जाए...!!!