DA Image
13 अगस्त, 2020|6:03|IST

अगली स्टोरी

  • सुधीश पचौरी, हिंदी साहित्यकार

    कितना न समझाया था अपने प्रिय कॉमरेड लेखक को कि हे साथी, आए दिन की दस्तखतबाजी वाली बुरी आदत को छोड़ दे। इस गलतफहमी में मत रह कि इधर तू जनता से कहेगा कि इसे वोट न कर और वह तुरत मान लेगी। हे साथी लेखक,...

    Sat, 25 May 2019 09:53 PM Tirchi Najar Hindustan
  • सुधीर पचौरी

    हिंदी का हर लेखक यथार्थ से जुड़ा होता है। वह जब भी देखता है, यथार्थ देखता है। जब दिखाता है, यथार्थ ही दिखाता है। जो कहता है, यथार्थ कहता है। हिंदी में सभी ‘यथार्थवादी’ हैं। कोई यथार्थ का...

    Sun, 12 May 2019 12:11 AM Tirchi Najar Tirchi Najar Hindustan Column
  • सुधीश पचौरी हिंदी साहित्यकार

    एक बार फिर अपने लेखक अपने मोरचे पर हैं। दो सौ लेखकों ने अपने सिग्नेचर करके जनता को प्रबोधा है कि ‘हेट’ की राजनीति के खिलाफ वोट करें और बहुलतावादी ‘जनतंत्र’ और...

    Sat, 06 Apr 2019 11:39 PM Tirchi Najar Hindustan Column Tirchi Najar
  • सुधीर पचौरी

    साहित्य समाज का दर्पण है। साहित्य कमजोर की आवाज है। साहित्य सबका हित करता है। ऐसी बातें खामखयाली हैं। नई उत्तर आधुनिक परिभाषा के अनुसार, साहित्य का अर्थ है ‘पव्वा’ यानी...

    Sat, 19 Jan 2019 08:43 PM Tirchi Najar Hindustan Column Tirchi Najar
  • सुधीश पचौरी, हिंदी साहित्यकार

    हिंदी साहित्य क्या है? पूरा ‘जुरासिक पार्क’। भांति-भांति के जीव-जंतुओं वाले इस पार्क में साहित्य की कई पीढ़ियां अपने-अपने पीढ़े जमाए बैठी हैं। कई जीव पाषाण युगीन नजर आते हैं। कई कृषि युगीन,...

    Sat, 14 Apr 2018 11:57 PM Tirchi Najar Tirchi Najar Hindustan Column
  • सुधीश पचौरी हिंदी साहित्यकार

    जिस तरह शिक्षा के क्षेत्र में उम्र से पहले दाखिला नहीं होता और डिग्री नहीं मिलती, उसी तरह साहित्य में भी उम्र के हिसाब से डिग्रियां मिलती हैं। हिंदी में उम्र का वही महत्व है, जो वीरगाथा काल में था।...

    Sun, 25 Mar 2018 12:32 AM Tirchi Najar Tirchi Najar Column Hindustan
  • 1
  • of
  • 1

चुटकुले

एक बुजुर्ग को दिया बच्चे ने ऐसा जवाब कि हंसते-हंसते लोटपोट हो जाएंगे आप

एक बुजुर्ग व्यक्ति - बेटा कैसे हो? 


बच्चा - ठीक हूं...
.
बुजुर्ग - पढ़ाई कैसी चल रही है? 
.

बच्चा - बिल्कुल आपकी जिंदगी की तरह...


.बुजुर्ग - मतलब? 
.
बच्चा - भगवान भरोसे...!!