DA Image

अगली स्टोरी

Nastar की खबरें

  • वह कोई ऐसे-वैसे नहीं, श्रेष्ठ और आदर्श किस्म के अनखुए हैं। जब दिवाली में दीये जले या पटाखे छूटे, तो उन्हें आपत्ति है कि लक्ष्मी की सवारियां पैसा फूंकने और शोर के प्रदूषण की प्रतियोगिता में लगी हैं।...

    Sun, 11 Nov 2018 11:29 PM IST Nashar Hindustan Column Nastar
  • दीपावली की अंधाधुंध के बाद अब जिधर देखो, उधर चुनावी प्रदूषण की छटा बिखरी हुई है। इस कोहरे में नेताओं को वोटरों के अलावा कहीं कुछ नहीं दिख रहा। दिवाली के कुछ पटाखे अब भी बचे हुए हैं, जो मध्य दिसंबर तक...

    Sat, 10 Nov 2018 12:51 AM IST Nashar Hindustan Column Nastar
  • दिल्ली की बात ही अलग है। कैंडल लाइट डिनर तो सब लेते हैं लेकिन दिल्लीवासियों के पास कैंडल लंच की भी सुविधा है। सूरज तो जैसे दिल्ली में नजरबंद हो गया है, दर्शन ही नहीं होते। काश मुहावरों की कोई संसद...

    Thu, 08 Nov 2018 11:07 PM IST Nashar Hindustan Column Nastar
  • Senior Journalist Pankaj Chaturvedi

    सुप्रीम कोर्ट ने जब आतिशबाजी चलाने के कायदे-कानून तय किए थे, तभी पता चल गया था कि इसकी धज्जियां उड़ेंगी ही। लेकिन धन-समृद्धि की देवी लक्ष्मी को अपने घर आमंत्रित कर जब दिल्ली और उसके आसपास के दो सौ...

    Thu, 08 Nov 2018 10:59 PM IST Nashar Hindustan Column Nastar
  • आज दीपावली है। समर्थ लोग किसी की शुभकामनाओं के सहारे नहीं चलते। नीरव मोदी बगैर किसी की शुभकामनाओं के एक बड़े सरकारी बैंक में स्वच्छता अभियान चला गए। दिवाली पर हम सब अपने घर की सफाई करते हैं। नीरव...

    Tue, 06 Nov 2018 10:28 PM IST Nashar Hindustan Column Nastar
  • यह देखकर अच्छा लग रहा है कि देश में सफाई पर बड़ा जोर दिया जा रहा है। हर तरफ स्वच्छ भारत का शोर है। जिसे देखो, वह सफाई में जुटा है। यहां तक कि लोगों ने गांधीजी का चश्मा तक साफ कर दिया है। मुझे लगता है...

    Wed, 03 Oct 2018 09:06 PM IST Nashar Hindustan Column Nastar
  • हम नाना मौकों पर नाना प्रकार की भाषा का प्रयोग करते हैं। जैसा मौका, वैसी भाषा। जैसे ढाबा हिंदी का शब्द है, तो वहां हिंदी बोलनी पड़ती है, होटल अंग्रेजी का तो वहां अंग्रेजी। भाषा से स्तर का पता लगता है।...

    Thu, 13 Sep 2018 09:26 PM IST Nashar Hindustan Column Nastar
  • हे प्रियतमा सड़क, मन बहुत उदास है। काले बादलों को देखकर मन की पीड़ा फूट पड़ती है। ऐसा ही कुछ मेरा हाल है। मैं भी वर्षा के आते ही व्याकुल हो उठता हूं। मैं जानता हूं, तुमसे जुदा होने का वक्त आ गया है।...

    Tue, 11 Sep 2018 09:48 PM IST Nashar Hindustan Column Nastar
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन ने हमारी सेहत पर गहरा वार किया है। उसकी रिपोर्ट बताती है कि देश के 42 करोड़ लोग आलसी हैं। समझ में नहीं आता कि इतने लोग आलसी हैं, तो देश आगे कैसे जा रहा है? वे लोग कह रहे हैं, देश...

    Mon, 10 Sep 2018 08:18 PM IST Nashar Hindustan Column Nastar
  • यह तो जगजाहिर है कि जब बुलबुल कैद में हो, तो कौन सैयाद है, जो मुस्कराता नहीं? जेल में बंद कैदी को देखकर कौन थानेदार ठहाके नहीं मारता? जेल में रहना अैर जेल में जन्म लेना दो अलग बातें हैं। वैसे, जेल और...

    Fri, 31 Aug 2018 11:17 PM IST Nashar Hindustan Column Nastar
  • 1
  • of
  • 2

जब भाइयों ने अपने पिता का नाम अलग-अलग लिखा

पप्पू और फेकू दोनों भाई एक ही क्लास में पढ़ते थे।

टीचरः तुम दोनों ने अपने पापा का नाम अलग-अलग क्यों लिखा।

पप्पूः मैडम, फिर आप कहोगी कि नकल मारी है, इसलिए...