DA Image

अगली स्टोरी

Nashtar Hindustan Column की खबरें

  • पढ़ाई के दिनों में जब देश-महिमा पर निबंध लिखने को मिलता, तो मास्साब की टिप्स के मुताबिक उसका शुरुआती वाक्य होता- भारत एक कृषि प्रधान देश है। कृषि और किसान अब राजनीति के मोहरे। अब देश शादी प्रधान हो...

    Fri, 16 Nov 2018 01:22 AM IST Nashtar Hindustan Column Nashtar Column
  • दिल्ली शब्द के साथ एक दुमछल्ला अक्सर जुड़ा होता है, जिसे एनसीआर कहते हैं। इसका पूरा नाम है, नेशनल कैपिटल रीजन, हिंदी में राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र। जानवरों की दुम नियम से पीछे की ओर होती है, हालांकि...

    Thu, 15 Nov 2018 01:46 AM IST Nashtar Hindustan Column Nashtar Column
  • दिल्ली से दूर के एक दोस्त की शिकायत थी कि धुंध, प्रदूषण का हमारे यहां भी बुरा हाल है, पर मीडिया में कवरेज दिल्ली की ही आती है। दिल्ली के कवियों के बारे में भी दूर के मित्र यही राय रखते हैं- हैं तो...

    Wed, 14 Nov 2018 01:31 AM IST Nashtar Hindustan Column Nashtar Column
  • मुझे यकीन है कि मैं मध्यमार्गी हूं। मेरा आयकर रिटर्न कमोबेश यही कहता है। मैं शायद इसी वजह के चलते ढंग से आम आदमी भी नहीं हूं। आम होते हुए भी अल्फांसो नस्ल का आम तो नहीं हूं। मैं तो बस...

    Tue, 13 Nov 2018 01:35 AM IST Nashtar Hindustan Column Nashtar Column
  • दीपावली का त्योहार सिर पर है और इसका सुरूर हर जगह लह-लहकर बोल रहा है। इन दिनों घर की महिलाओं और ‘आप’ पार्टी के नेताओं में अंतर करना मुश्किल हो गया है, क्योंकि दोनों के ही हाथों में झाड़ू...

    Tue, 06 Nov 2018 01:23 AM IST Nashtar Hindustan Column Nashtar Column
  • हे लक्ष्मी मैया, हे धन देवी, हे विष्णुप्रिया मां, तुझे तेरे एक कंगाल बच्चे का प्रणाम। मैया एक अरज है- कभी मेरे घर भी पधार। मैं तेरे पांव दबाऊंगा। जो मर्जी दे देना। कैशलेस के सिवा। हे अम्मा, मैं कब तक...

    Sat, 03 Nov 2018 01:04 AM IST Nashtar Hindustan Column Nashtar Column
  • कर्मवाद भारतीय संस्कृति का महत्वपूर्ण सिद्धांत है। कर्मवाद के अनुसार प्रत्येक कर्म का एक फल निश्चित है और प्राप्ति भी सुनिश्चित है। इस विषय में कोई किंतु-परंतु नहीं। गीता  कहती है, ‘कर्म...

    Fri, 02 Nov 2018 12:57 AM IST Nashtar Hindustan Column Nashtar Column
  • कुछ महिला त्योहार ऐसे होते हैं, जिस दिन बुरे से बुरा पति भी पूजनीय हो जाता है। वैसे भी दिवाली से पहले पुरानी चीजों को झाड़-पोंछकर करीने से लगाने का रिवाज है। सच तो यह है कि पति-पत्नी आपस में झूठ न...

    Fri, 26 Oct 2018 11:54 PM IST Nashtar Hindustan Column Nashtar Column
  • कुछ चीजें कभी नहीं बदलतीं। कुछ लोग इस न बदलने को ही परंपरा मान लेते हैं। हालांकि हर न बदलने वाली चीज को परंपरा कहने के अपने खतरे हैं। मसलन, अगर सरकारी कर्मचारी यह कहने लगे कि काम न करना हमारी परंपरा...

    Fri, 26 Oct 2018 01:07 AM IST Nashtar Hindustan Column Nashtar Column
  • भाई साहब, सारे पर्व-त्योहार तो शांति से बीत गए, मगर कुछ पुराने अभिनेताओं और बुजुर्गों पर भारी पडे़। युवा पत्रकार तो बहुत मायूस हैं कि हाय, उस वक्त हम क्यों न हुए? लेकिन मैं हलकान-परेशान वयोवृद्ध...

    Fri, 19 Oct 2018 11:59 PM IST Nashtar Hindustan Column Nashtar Column
  • 1
  • of
  • 8

इंटर के बाद क्या करोगे

फूफा जी: बेटा इंटर के बाद आगे क्या करोगे..

भतीजा: बीटेक के लिए फॉर्म डाल रहा हूं, देखो क्या होता है..

फूफा जी: अगर रैंक अच्छी नहीं आई तो..

भतीजा: तो फिर कहीं से सिंपल ग्रेजुएशन कर लेंगे..

फूफा जी: अच्छा मान लो इंटर में बाई चांस लटक गए तो?

भतीजा: तो फिर एक मर्डर करेंगे, एक रिश्तेदार का.. हमारी कुण्डली में लिखा है..