अगली स्टोरी

Mansa Vacha Karmana की खबरें

  • चीन के सबसे बड़े धनपति और अलीबाबा नामक कंपनी के संस्थापक, संचालक जैक मा ने अपने अवकाश की घोषणा कर दी है। जैक मा की कहानी अद्भुत है। वह अत्यंत गरीब परिवार में पैदा हुए। स्कूल में वह कई बार फेल हुए,...

    Sun, 23 Sep 2018 11:42 PM IST Mansa Vacha Karmana Mansa Vacha Karmana Column Hindustan अन्य...
  • वह अक्सर अपनी टीम को कोसते रहते हैं। ‘आप लोगों को दूर तक दिखलाई नहीं पड़ता। जरा दूर तक देखने की कोशिश तो करो।’ ‘हम थोड़ी दूर तक ही देख पाते हैं, लेकिन उतने में ही समझ जाते हैं कि...

    Fri, 21 Sep 2018 10:04 PM IST Mansa Vacha Karmana Mansa Vacha Karmana Column Hindustan अन्य...
  • सुबह-ए-बनारस उन्हें रास आ गया। सोचने लगे कि इतनी सुबह इससे पहले कब उठे थे? याद नहीं आया। भोर में उठना हमारी संस्कृति का हिस्सा रहा है। प्राचीन काल में हमारे जितने भी चिंतक-खोजी हुए, सभी भोर-भोर उठने...

    Thu, 20 Sep 2018 11:27 PM IST Mansa Vacha Karmana Mansa Vacha Karmana Column Hindustan अन्य...
  • ऐसे भी बहुतेरे हैं, जो हर तरह से योग्य हैं, फिर भी उन्हें वह हासिल नहीं हो पाता, जिसके वे वाकई हकदार हैं। वजह बनती है- अहं। यह साथ हो, तो सब कुछ होते हुए भी आदमी शून्य सा हो जाता है। द पावर ऑफ नाउ...

    Wed, 19 Sep 2018 11:14 PM IST Mansa Vacha Karmana Mansa Vacha Karmana Column Hindustan अन्य...
  • सितार के सुरों का मजा तो हर किसी ने लिया है, लेकिन इन सुरों को कैसे सुंदर बनाना है, इसका राज एक अच्छा सितार वादक ही जानता है। कहते हैं कि सितार के सात तार लाखों-करोड़ों गीतों और रागों को मधुरता में...

    Tue, 18 Sep 2018 10:01 PM IST Mansa Vacha Karmana Mansa Vacha Karmana Column Hindustan अन्य...
  • हमेशा से यह माना जाता रहा है कि बोलने में भला कंजूसी क्यों की जाए? शब्दकोशों में हजारों-लाखों शब्द हैं, हजारों मुहावरे और लोकोक्तियां हैं, जिनमें हमारे अनुभवों का खजाना छिपा है। प्रशंसा के वाक्यों की...

    Mon, 17 Sep 2018 09:48 PM IST Mansa Vacha Karmana Mansa Vacha Karmana Column Hindustan अन्य...
  • मनुष्यों की इस भीड़ में अकेलापन एक विकराल समस्या हो गई है? जैसे अथाह समुंदर और पीने के लिए एक बूंद पानी नहीं। लेकिन यही आधुनिक जीवन का सच है। शहरों में रहने वाले 40 प्रतिशत लोग अकेलेपन की बीमारी से...

    Sun, 16 Sep 2018 11:47 PM IST Mansa Vacha Karmana Mansa Vacha Karmana Column Hindustan अन्य...
  • वह परेशान हैं। बॉस ने कल ही तो कहा था कि वह अपने में बदलाव नहीं लाते। वह मान ही नहीं पाते कि कुछ गड़बड़ी कर रहे हैं।   ‘जब तक हम सच को मान नहीं लेते, तब तक बदलाव की बात बेकार है।’...

    Fri, 14 Sep 2018 11:22 PM IST Mansa Vacha Karmana Mansa Vacha Karmana Column Hindustan अन्य...
  • हम अक्सर जो बीत रहा है, उसकी बुराई करते हैं। ‘बहुत बुरा समय है’ इसे तकिया कलाम बना दोहराते रहते हैं। यह ऐसी आदत है, जो जिंदगी के मजे हमसे छीनती है। इस पर कोई ध्यान नहीं देता कि अच्छी-बुरी...

    Thu, 13 Sep 2018 09:24 PM IST Mansa Vacha Karmana Mansa Vacha Karmana Article Of Hindustan
  • पूछकर देखिए- आपका दिन कैसा रहा? पूरी आशंका है कि इसका जवाब होगा-‘बस चल रहा है, बस समय कट रहा है’ या इस जैसा ही कुछ। ये जवाब इतने सामान्य हैं कि हमें नहीं अखरते। इससे जवाब देने वाले के इस...

    Wed, 12 Sep 2018 10:01 PM IST Mansa Vacha Karmana Mansa Vacha Karmana Column Hindustan अन्य...
  • 1
  • of
  • 27

दुनिया के हर बॉस की आदत

कर्मचारी: हेलो बॉस, मुझे आतंकवादी ने पकड़ लिया है, दोनों हाथ काट दिए हैं, आंख फोड़ दी, किडनी निकाल ली है।

बॉस पप्पू: देख ले… हो सके तो आजा, आज काम बहुत है...