Hindustan Mansa Vacha Karmana News, Hindustan Mansa Vacha Karmana की ताज़ा ख़बर, Hindustan Mansa Vacha Karmana हिंदी न्यूज़ page1 DA Image

अगली स्टोरी

  • लोकतंत्र में मतभेद होना स्वाभाविक भी है और इसे जरूरी भी माना जाता है। हमारे देश ने तो यहां तक मान लिया था कि हर व्यक्ति एक विचार है और विचार का अर्थ है नएपन की खोज। यही खोज कभी-कभी सफल क्रांति में...

    Thu, 03 Oct 2019 12:04 AM IST Hindustan Mansa Vacha Karmana
  • गांधी की महानता इसमें है कि वह भीतर से योगी थे और बाहर से राजनीति में थे। उन्होंने लिखा भी है कि धर्म और राजनीति इतने अलग नहीं हैं, जितने दिखाई देते हैं। दोनों का समन्वय हो, तभी राजनीति कल्याण कर...

    Sun, 29 Sep 2019 10:13 PM IST Mansa Vacha Karmana Hindustan Mansa Vacha Karmana
  • अपने ऊपर आती बाउंसर का रुख बदल दिया उन्होंने। ‘वह मेरी नहीं, उसकी गलती थी।’ इस तरह की बाउंसर का जवाब देने में वह खुद को ‘मास्टर’ मानने लगे थे। ‘अपनी गलती दूसरी तरफ...

    Sat, 28 Sep 2019 01:22 AM IST Mansa Vacha Karmana Hindustan Mansa Vacha Karmana
  • हमारी जिंदगी उस नाव की तरह है, जो समय की धारा में अपने आप बहने लगती है। हम एक निश्चित दिशा में आगे बढ़ना चाहते हैं, लेकिन कभी-कभी समय की धारा अपने हिसाब से हमारी नाव का रुख मोड़ देती है। कुछ समय बाद जब...

    Wed, 25 Sep 2019 11:56 PM IST Mansa Vacha Karmana Hindustan Mansa Vacha Karmana
  • इस बात को वह दमदार तरीके से कहते हैं कि कुदरत हमें हर अच्छे-बुरे के बारे में साफ-साफ बताती है, लेकिन हम अपनी कमजोर संवेदना की वजह से उस ओर ध्यान नहीं देते। जब तक कुछ खास न घट जाए, तब तक हम उस पर गौर...

    Thu, 19 Sep 2019 12:39 AM IST Mansa Vacha Karmana Hindustan Mansa Vacha Karmana
  • समस्याओं का जीवन से गहरा संबंध होता है। ये अनिवार्य रूप से जिंदगी की आखिरी सांस तक चलती रहती हैं। जीवन है, तो समस्याएं हैं, जीवन नहीं रहने पर समस्याएं भी नहीं रहती हैं। यह मानकर चलना चाहिए कि जीवन...

    Wed, 18 Sep 2019 01:22 AM IST Mansa Vacha Karmana Hindustan Mansa Vacha Karmana
  • हमारा जीवन एक दौड़ते हुए रथ की तरह है, तभी तो उपनिषदों ने शरीर को रथ, आत्मा को रथी, मन को अश्व और बुद्धि को लगाम कहा है। ऊबड़-खाबड़ पथ पर संतुलन बनाकर ही चला जा सकता है। यही संतुलित बुद्धि हमारी यात्रा...

    Tue, 17 Sep 2019 12:53 AM IST Mansa Vacha Karmana Hindustan Mansa Vacha Karmana
  • वर्षा में जब सब तरफ से बारिश व बादलों से वातावरण घिर जाता है, तो मन स्वभावत: भीतर का रुख करता है। प्रकृति का हरा-भरा उत्सव उसे सरल और शांत बना देता है। वृत्तियां अंतर्मुखी होती हैं और व्यक्ति साल भर...

    Mon, 16 Sep 2019 02:23 AM IST Mansa Vacha Karmana Hindustan Mansa Vacha Karmana
  • अचानक बॉस पास चले आए। बोले, ‘दिमाग पर इतना अत्याचार मत किया करो। अपने शरीर पर भी ध्यान दो। एक दिन सब गड़बड़ा जाएगा।’ ‘हम जब मन को बदलने में शरीर की ताकत को पहचानते हैं, तो बेहतर...

    Sat, 14 Sep 2019 12:36 AM IST Mansa Vacha Karmana Hindustan Mansa Vacha Karmana
  • प्रेरक चीजें बाहरी दुनिया में प्रचुरता के साथ उपलब्ध हैं। पर सबसे जरूरी होती है, अंतप्र्रेरणा। बिना इसके काम तो किए जा सकते हैं, लेकिन बेहतरीन काम शायद ही संभव है। कला जगत में अंतप्र्रेरणा के शानदार...

    Fri, 13 Sep 2019 02:22 AM IST Mansa Vacha Karmana Hindustan Mansa Vacha Karmana
  • 1
  • of
  • 3

चुटकुले

पत्नी ने, पति से पूछा -- क्या मैं बहुत मोटी लग रही हूं?

आईने के आगे खड़ी पत्नी ने, अपने पति देव से पूछा -- क्या मैं बहुत मोटी लग रही हूं? 

 पति ने सोचा और बेकार के झगड़े  से बचने के लिए कहा-- बिल्कुल भी नहीं !!!

 पत्नी ने खुश होकर रोमांटिक होकर कहा-- "ठीक है फिर मुझे अपनी बाहों में उठा कर फ्रिज तक ले चलो। मैं आइसक्रीम खाऊंगी!"

 स्थिति को बेकाबू होते देख पति ने कहा --"रुकजा, ....मैं फ्रिज ही ले आता हूं!"