DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विवादास्पद ट्रायल में सुशील कुमार ने जीता विश्व चैंपियनशिप का टिकट

सुशील ने बेहद कड़े मुकाबले में हरियाणा के जितेंद्र को 4-2 से हराकर विश्व चैंपियनशिप का टिकट हासिल कर लिया। सुशील ने पहले ही राउंड में 4-0 की बढ़त बना ली थी, लेकिन दूसरे राउंड में मुकाबला काफी कड़ा रहा। 

sushil kumar  pti

दो बार के ओलंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार ने विश्व कुश्ती प्रतियोगिता के लिए मंगलवार (20 अगस्त) को यहां आईजी स्पोर्टस कॉम्पलैक्स के केडी जाधव कुश्ती स्टेडियम में आयोजित 74 किग्रा वर्ग का ट्रायल जीत लिया, लेकिन इस ट्रायल पर आखिर में विवाद की छाया पड़ गई। सुशील ने 14 से 22 सितंबर तक कजाखस्तान में होने वाली विश्व चैम्पियनशिप के लिए क्वॉलिफाई कर लिया है जो 2020 के टोक्यो ओलंपिक के लिए पहला क्वॉलिफाइंग टूर्नामेंट है। विश्व चैंपियनशिप में प्रत्येक वजन वर्ग में शीर्ष छह पहलवान अपने देश को टोक्यो ओलंपिक का कोटा दिलाएंगे।

वर्ष 2008 के बीजिंग ओलंपिक के कांस्य पदक विजेता, 2012 लंदन ओलंपिक के रजत विजेता और 2010 में विश्व चैंपियन रह चुके सुशील के 74 किग्रा वजन वर्ग का ट्रायल पिछले महीने 26 जुलाई को होना था, लेकिन उनके दो प्रतिद्वंद्वी पहलवानों के अनफिट होने के कारण इस ट्रायल को स्थगित कर दिया गया था। 

पूजा-नवजोत को ट्रायल्स में चुनौती के बिना मिला विश्व चैम्पियनशिप का टिकट

यह ट्रायल आज आजोयित हुआ, जिसमें सुशील ने बेहद कड़े मुकाबले में हरियाणा के जितेंद्र को 4-2 से हराकर विश्व चैंपियनशिप का टिकट हासिल कर लिया। सुशील ने पहले ही राउंड में 4-0 की बढ़त बना ली थी, लेकिन दूसरे राउंड में मुकाबला काफी कड़ा रहा। 

सुशील कुमार ने 4-2 से यह मुकाबला जीता। यह मुकाबला हारने के बाद जितेंद्र काफी हताश नजर आए, जबकि उनके कोच जयवीर ने आरोप लगाया कि रेफरी ने मुकाबले के दौरान फाउल को नजरअंदाज किया। दरअसल दूसरा राउंड शुरु होते ही जितेंद्र की आंख में चोट लग गई थी जिससे उन्होंने मेडिकल टाइम आउट लिया। 

दूसरे राउंड में जितेंद्र की कोहनी में दो बार चोट लगी, जबकि सुशील की नाक से दो बार खून भी निकला। जितेंद्र के कोच ने आरोप लगाया कि सुशील जानबूझकर मेडिकल टाइम आउट ले रहे थे ताकि वह खुद को ताजा रख सके। 

हालांकि, सुशील ने मुकाबले के बाद संवाददाताओं से कहा, “कुश्ती के मुकाबलों में ऐसा कई बार हो जाता है कि आपको चोट लग जाती है। कोई भी पहलवान जानबूझकर ऐसा नहीं करता है। जितेंद्र अच्छा पहलवान है और वह मेरे छोटे भाई की तरह है। मैं अभी उसे बधाई देकर आया हूं कि उसने काफी अच्छा मुकाबला लड़ा और उसमें भविष्य के लिए काफी संभावनाएं हैं।” 

विश्व चैंपियनशिप के लिए पांच वजन वर्गों के ट्रायल 26 जुलाई को हो गए थे जबकि आज सुशील के 74 किग्रा वर्ग और चार गैर ओलंपिक वजन वर्गों, 61 किग्रा, 70 किग्रा, 79 किग्रा और 92 किग्रा के ट्रायल आयोजित हुए। सभी निगाहें सुशील के मुकाबले पर लगी हुई थीं और इसे देखने के लिए भारी संख्या में कुश्ती प्रेमी मौजूद थे। भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह और सुशील के गुरु महाबली सतपाल भी सभी ट्रायल के दौरान लगातार मौजूद रहे। सुशील के 74 किग्रा वर्ग में पांच पहलवान मुकाबले में थे। इस वजन वर्ग में सुशील के अलावा अमित धनखड़, जितेंद्र, गौरव बालियान और विनोद शामिल थे। 

सानिया मिर्जा ने शेयर की ऐसी फोटो, लोगों ने ट्रोल कर कहा- Star Fish

सुशील का पहला मुकाबला विनोद से हुआ। विनोद ने गौरव को 3-2 से हराकर सुशील से भिड़ने का हक पाया। सुशील ने विनोद के खिलाफ पहले राउंड में दो अंक और दूसरे राउंड में एक अंक लेकर 3-0 से जीत हासिल की। सुशील ने अपना डिफेंस मजबूत रखा और विनोद को फासले पर रखते हुए मुकाबला अपने नाम किया। विनोद ने मुकाबला हारने के बाद सुशील के पैर छूकर उनके प्रति सम्मान व्यक्त किया।  

जितेंद्र ने अमित को एकतरफा अंदाज में 5-0 से पीटा। फाइनल में सुशील और जितेंद्र का मुकाबला हुआ और यह मुकाबला बेहद कड़ा रहा। पहले राउंड में सुशील ने चार अंक बनाए जबकि जितेंद्र ने दूसरे राउंड में एक-एक कर कुल दो अंक लिए। आखिरी सेकेंडों में सुशील ने खुद को जितेंद्र के दांव में आने से बचाए रखा। दूसरे राउंड में जितेंद्र के कोच जयवीर अपना विरोध प्रकट करने मैट पर पहुंच गए लेकिन कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण ने उन्हें मैट से बाहर जाने को कहा। 

जितेंद्र के कोच जयवीर ने मुकाबले पर नाराजगी व्यक्त करते हुए मुकाबले के बाद सुशील पर आरोप लगाया कि उन्होंने जानबूझकर जितेंद्र की आंख पर हाथ मारा जिससे उन्हें चोट आ गई। जयवीर ने यह भी आरोप लगाया कि रेफरी ने मेडिकल टाइम आउट को लेकर सुशील को सुस्ताने का मौका दिया। 

जितेंद्र ने भी खुलकर तो नहीं, लेकिन दबी जुबान में अपना विरोध जताया। जितेंद्र यह मुकाबला हार गए लेकिन उनके पास अब भी विश्व चैंपियनशिप का टिकट हासिल करने का मौका रहेगा। उनका 23 अगस्त को सोनीपत में 79 किग्रा के विजेता वीरदेव गुलिया के साथ ट्रायल होगा और इस ट्रायल को जीतने वाला पहलवान विश्व चैंपियनशिप में 79 किग्रा वर्ग में भारत का प्रतिनिधित्व करेगा। जितेंद्र ने इसके लिए फेडरेशन के अध्यक्ष बृजभूषण से अनुमति ले ली है। 

इस बीच सुशील के गुरु महाबली सतपाल ने कहा, “सुशील ने शानदार मुकाबला लड़ा। यह आरोप गलत है कि सुशील ने जितेंद्र को कोई चोट पहुंचाई। आप पहला राउंड देखें सुशील ने शानदार दांव लगाकर अंक जीते थे। वह डिफेंस में भी उतने मजबूत थे जितने अटैक में। कुश्ती में नजदीकी मुकाबला होता है और किसी भी पहलवान को चोट लग सकती है। दो बार तो सुशील की नाक से ही खून आ गया था। जितेंद्र को जो दूसरा अंक मिला था वह दरअसल नियम की अनदेखी के कारण मिल गया था।” 

सुशील ने विश्व चैंपियनशिप का टिकट हासिल करने के बाद कहा, “लंबे अंतराल के बाद मैट पर उतरना बहुत मुश्किल काम होता है। मैंने हाल में बेलारुस में अपना पहला टूनार्मेंट खेला था जिसमें मेरा प्रदर्शन अच्छा रहा था। मुझे विश्वास है कि मैं विश्व चैंपियनशिप में ओलंपिक कोटा हासिल करने के साथ पदक भी जीतूंगा। मैं हफ्ते बाद फेडरेशन से अनुमति लेकर बाहर ट्रेनिंग के लिए जाऊंगा।”

उन्होंने साथ ही जितेंद्र को एक अच्छा पहलवान बताते हुए भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी। यह लगातार दूसरा साल है जब सुशील का ट्रायल विवादों में घिरा है। पिछले साल राष्ट्रमंडल खेलों के लिए इसी स्टेडियम में हुए ट्रायल में उनका मुकाबला प्रवीण राणा के साथ था और दोनों पहलवानों के समर्थक बाद में आपस में भिड़ गए थे। प्रवीण राणा इस बार चोटिल होने के कारण ट्रायल से पहले ही हट गए थे।

ट्रायल शांतिपूर्वक हो और पिछले साल की घटना की पुनरावृति ना हो, फेडरेशन अध्यक्ष बृजभूषण ने हाथ में माइक लेकर समर्थकों को कुश्ती हॉल से हटाकर दर्शक दीर्घा में बैठने का निदेर्श दे दिया था। ट्रायल के दौरान प्रशंसक शोर करते रहे और सुशील के जीतने पर उनके समर्थकों ने तालियां बजाकर इसका जश्न मनाया। 

चार गैर ओलंपिक वजन वर्गों में 61 किग्रा में राहुल अवारे ने रविंदर को 7-2 से, 7० किग्रा में करण ने रजनीश को 3-1 से, 79 किग्रा में वीरदेव ने कोटक धापले को 5-1 से और 92 किग्रा में प्रवीण ने पवन को 7-2 से हराया। इनमें से राहुल अवारे, करण और प्रवीण को विश्व चैंपियनशिप का टिकट मिल गया है जबकि वीरदेव को 23 अगस्त को जितेंद्र के साथ ट्रायल देना होगा और विजेता को विश्व चैंपियनशिप का टिकट मिलेगा। 

इस बीच राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी (नाडा) की टीम पहलवानों का नमूना लेने स्टेडियम पहुंची। बृजभूषण ने भी घोषणा की कि सभी पहलवान अपना टेस्ट देने के लिए तैयार रहे और कोई भी पहलवान इससे बचने की कोशिश ना करे। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:wrestler sushil kumar qualified for world wrestling championship