DA Image
हिंदी न्यूज़ › खेल › तीरंदाजी: भारत फिर गोल्ड मेडल जीतने से चूका, तीन सिल्वर किए अपने नाम 
खेल

तीरंदाजी: भारत फिर गोल्ड मेडल जीतने से चूका, तीन सिल्वर किए अपने नाम 

एजेंसी ,नई दिल्ली Published By: Ezaz Ahmad
Sun, 26 Sep 2021 11:04 PM
तीरंदाजी: भारत फिर गोल्ड मेडल जीतने से चूका, तीन सिल्वर किए अपने नाम 

भारतीय तीरंदाज ज्योति सुरेखा वेनाम को कम्पाउंड महिला व्यक्तिगत फाइनल में बेहद करीबी मुकाबले में कोलंबिया की दुनिया की तीसरे नंबर की खिलाड़ी सारा लोपेज के खिलाफ शिकस्त के साथ यहां विश्व चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल से संतोष करना पड़ा। व्यक्तिगत पुरुष कम्पाउंड वर्ग में विश्व कप के तीन बार के स्वर्ण पदक विजेता अभिषेक वर्मा कड़े मुकाबले में नीदरलैंड के दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी माइक स्क्लोसेर के खिलाफ क्वार्टर फाइनल में 147-148 से हार गए थे। भारत के कंपाउंड तीरंदाजों ने अपने अभियान का अंत तीन रजत पदक के साथ किया। अंकिता भकत रिकर्व वर्ग में पदक की दौड़ में एकमात्र भारतीय तीरंदाज थीं, वह क्वार्टर फाइनल में महिलाओं की व्यक्तिगत स्पर्धा में अमेरिका की कासे कॉफहोल्ड से 2-6 से हारकर बाहर हो गईं।

ज्योति भारत की महिला और मिश्रित युगल कंपाउंड तीरंदाजी टीम का भी हिस्सा थी जिन्हें शुक्रवार को कोलंबिया के खिलाफ एकतरफा हार के साथ रजत पदक मिले थे। भारत को अब भी इस प्रतियोगिता में अपने पहले स्वर्ण पदक की तलाश है। भारत ने इस प्रतियोगिता में अब तक सबसे अधिक 11 बार पोडियम पर जगह बनाई है। इस दौरान उसके खिलाड़ियों ने नौ बार फाइनल में चुनौती पेश की लेकिन हर बार रजत पदक से संतोष करना पड़ा।

नीदरलैंड के डेन बोश में 2019 विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीतने वाली ज्योति ने शानदार प्रदर्शन किया लेकिन पांच बार की विश्व कप चैंपियन सारा बेहतर खेल दिखाते हुए 146-144 से जीत दर्ज करने में सफल रही। ज्योति ने दिन की शानदार शुरुआत की और अपने करियर में पहली बार परफेक्ट 150 का स्कोर बनाया। उन्होंने पांच दौर में अपने सभी 15 तीर 10 अंक पर मारे। उन्होंने क्वार्टर फाइनल में अंडर 21 विश्व चैंपियन क्रोएशिया की अमांडा म्लिनारिच को छह अंक से हराया। ज्योति ने सेमीफाइनल में मैक्सिको की आंद्रिया बेकेरा को 148-146 से हराया लेकिन कोलंबिया की तीरंदाज की चुनौती से पार नहीं पा पाई। ज्योति ने इससे पहले मैक्सिको में 2017 विश्व चैंपियनशिप में रजत और डेन बोश में 2019 में कांस्य पदक जीते। उन्होंने ये दोनों पदक टीम स्पर्धाओं में जीते। 

संबंधित खबरें