vinesh phogat reach into finals of 50 kg women wrestling and ensure another medal for india - Asian Games 2018: फाइनल में पहुंचीं विनेश फोगाट, भारत को एक और गोल्ड की उम्मीद DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Asian Games 2018: फाइनल में पहुंचीं विनेश फोगाट, भारत को एक और गोल्ड की उम्मीद

महिला कुश्ती 50 किलोग्राम इवेंट में आज चीन की यनान सुन से हिसाब चुकता किया और फाइनल में प्रवेश कर लिया। इसी के साथ महिला कुश्ती में भारत को एक मेडल मिलना तय हो गया है।

Vinesh Phogat in finals of asian games (photo - AP)

भारत की धाकड़ रेसलर विनेश फोगाट ने एशियाई खेलों भारत के लिए एक और गोल्ड मेडल की उम्मीद जगाई है। महिला कुश्ती 50 किलोग्राम इवेंट में आज चीन की यनान सुन से हिसाब चुकता किया और फाइनल में प्रवेश कर लिया। इसी के साथ महिला कुश्ती में भारत को एक मेडल मिलना तय हो गया है। हालांकि भारत के लिए एक बुरी खबर यह है कि रियो ओलंपिक में मेडल जीतने वालीं साक्षी मलिक गोल्ड की रेस से बाहर हो गई हैं। 

75 सैकेंड में जीता सेमीफाइनल मैच
शानदार फॉर्म में चल रहीं विनेश फोगाट ने दूसरे दिन की शुरुआत करते हुए चीन की सुन को हरा दिया। उन्होंने इस हार के साथ रियो ओलंपिक की कड़वी यादों को पीछे छोड़ दिया जब चीनी खिलाड़ी के खिलाफ मुकाबले में पैर में चोट लगने के कारण विनेश मुकाबला हार गयी थीं। इस बार विनेश ने विरोधी खिलाड़ी को कोई मौका नहीं दिया और उसे 8-2 से हराया। अगली बाउट में उन्होंने कोरिया की हजुंगजू किम को तकनीकी श्रेष्ठता के आधार पर हरा दिया। उनका सेमीफाइनल मैच केवल 75 सेकेंड चला और वह 'फितले दांव के साथ फाइनल में पहुंचीं। वह 4-0 से आगे थीं और फिर तीन बार विरोधी खिलाड़ी को पलट दिया। 

बजरंग ने एशियाई खेलों में जीता गोल्ड, गोंडा के प्रशिक्षण केन्द्र ले चुके हैं ट्रेनिंग-VIDEO

ASIAN GAMES: शूटिंग में भारत की 'चांदी', दीपक ने दिलाया दूसरा मेडल

साक्षी ने खोया गोल्ड का मौका
ओलंपिक कांस्य पदक विजेता साक्षी का प्रदर्शन उम्मीद के मुताबिक नहीं दिखा और वो सेमीफाइनल में ज्यादा डिफेंसिव होकर खेलीं। अपने पहले एशियाई खेल में साक्षी का सेमीफाइनल तक का सफर आसान रहा और उन्होंने थाइलैंड श्रीसोम्बत (10-0) और अयालुम कस्सीमोवा (10-0) को आसानी से शिकस्त दी। वह किर्गिस्तान की ऐसुलू टिनीबेकोवा के खिलाफ सेमीफाइनल में 4-0 से आगे चल रही थीं लेकिन इसके बाद प्रतिद्वंद्वी ने खेल का रुख पलटते हुए मुकाबला अपने नाम कर लिया। अब साक्षी कांस्य के लिए मुकाबला करेंगी। 

उनकी ही तरह पूजा ढांडा भी अब कांस्य के लिए खेलेंगी जिन्हें 57 किग्रा वर्ग के सेमीफाइनल में हार का सामना करना पड़ा। पूजा ने थाईलैंड की ओरासा सूकदोंगयासेगर (10-0) और उज्बेकिस्तान की नबिरा इसेनबेई (12-1) को आसानी से हराते हुए सेमीफाइनल तक का सफर तय किया। लेकिन सेमीफाइनल में वह कोरिया की म्योंग सुक जोंग से तकनीकी श्रेष्ठता के आधार पर हार गयीं। पिंकी अकेली भारतीय पहलवान रहीं जो पदक की होड़ से बाहर हो गयीं। वह 53 किग्रा वर्ग के पहले राउंड की बाउट में मंगोलिया की सुमिया एरदेनेचिमेग से हार गयीं। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:vinesh phogat reach into finals of 50 kg women wrestling and ensure another medal for india