DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

US Open 2019: ग्रैंडस्लैम में ड्रीम डेब्यू करेंगे सुमित नागल, रोजर फेडरर से होगा सामना

सुमित नागल 2015 में जूनियर ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने वाली छठे भारतीय बने थे, उन्होंने वियतना के नाम हाओंग लि के साथ मिलकर विम्बलडन में लड़कों के वर्ग का युगल खिताब जीता था।

 sumit nagal  getty images

भारतीय टेनिस खिलाड़ी सुमित नागल ने अंतिम क्वॉलिफाइंग दौर में जीत हासिल कर अमेरिकी ओपन के पहले दौर में सोमवार को सर्वकालिक महान खिलाड़ियों में से एक रोजर फेडरर से भिड़ने का हक पाया, जो उनके लिए ग्रैंडस्लैम में स्वप्निल पदार्पण होगा। नागल ने शुक्रवार को अंतिम क्वॉलिफाइंग दौर में ब्राजील के जोआओ मेनेजेस के खिलाफ एक सेट गंवाने के बाद वापसी करते हुए दो घंटे 27 मिनट में 5-7 6-4 6-3 से जीत हासिल की। 

इस तरह 22 साल का यह खिलाड़ी इस एक दशक में ग्रैंडस्लैम एकल मुख्य ड्रॉ में खेलने वाला पांचवां भारतीय बन गया है। सोमदेव देववर्मन, युकी भांबरी, साकेत मायनेनी और प्रजनेश गुणेश्वरन इससे पहले टेनिस ग्रैंडस्लैम में खेल चुके हैं। 

बी साई प्रणीत ने रचा इतिहास, BWF WC में पदक जीतने वाले दूसरे भारतीय बने

सुमित नागल 2015 में जूनियर ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने वाली छठे भारतीय बने थे, उन्होंने वियतना के नाम हाओंग लि के साथ मिलकर विम्बलडन में लड़कों के वर्ग का युगल खिताब जीता था। प्रजनेश भी इसी अमेरिकी ओपन में खेल रहे हैं, जिससे भारत के दो खिलाड़ी 1998 के बाद पहली बार ग्रैंडस्लैम में भाग लेंगे। 1998 में महेश भूपति और लिएंडर पेस विम्बलडन में खेले थे। 

प्रजनेश का सामना सिनसिनाटी मास्टर्स विजेता और दुनिया के पांचवें नंबर के खिलाड़ी दानिल मेदवेदेव से होगा। नागल के पदार्पण पर भारत के डेविस कप कप्तान भूपति ने कहा, ''नागल दुर्भाग्यशाली रहा कि उसे चोटों से काफी जूझना पड़ा लेकिन उसने इस स्तर पर वापसी के लिए काफी कड़ी मेहनत की है। अमेरिकी ओपन में रोजर से भिड़ना हर क्वॉलिफायर का सपना और दुस्वप्न होता है। मुझे लगता है कि इस अनुभव से उसके आत्मविश्वास में काफी बढ़ोतरी होगी।''

BWF WC 2019: इस बार टूर्नामेंट में अपने पदक का रंग बदलना चाहती हैं ​पीवी सिंधु

उन्होंने फेडरर से कोर्ट पर भिड़ंत के बारे में कहा, ''उसे इस क्षण का लुत्फ उठाना चाहिए और अपने शॉट खेलने चाहिए।'' उन्होंने कहा, “आप इसी दिन का इंतजार करते हैं, जब आप युवा खिलाड़ी होते हैं तो यही चाहते हैं। आप सोचते है कि एक दिन आप फेडरर के खिलाफ खेले, एक दिन आप राफेल नडाल का सामना करें। मैं इस सपने पूरा करके बहुत खुश हूं।”

नागल ने कहा, “कोई भी चैलेंजर या फ्यूचर्स टूर्नामेंट नहीं खेलना चाहता। आप एटीपी टूर्नामेंट और बड़े मैच खेलना चाहते हैं।” वर्ल्ड रैंकिंग में नागल 190वें पायदान पर काबिज हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:US Open 2019 Sumit Nagal qualifies for main draw to face Roger Federer in first round