फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ खेलपीएम की दावत में मिलेगा गोलगप्पा और चूरमा, ओलंपिक चैंपियनों के स्वागत समारोह में खेलमंत्री ने नीरज चोपड़ा से किया वादा

पीएम की दावत में मिलेगा गोलगप्पा और चूरमा, ओलंपिक चैंपियनों के स्वागत समारोह में खेलमंत्री ने नीरज चोपड़ा से किया वादा

टोक्यो ओलंपिक 2020 में देश के लिए मेडल लेकर लौटे भारतीय खिलाड़ियों को दिल्ली के अशोका होटल में सम्मानित किया गया। इस मौके पर खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने इन जाबांज प्लेयर्स की जमकर तारीफ की।...

पीएम की दावत में मिलेगा गोलगप्पा और चूरमा, ओलंपिक चैंपियनों के स्वागत समारोह में खेलमंत्री ने नीरज चोपड़ा से किया वादा
Shubham Mishraएजेंसी,नई दिल्लीMon, 09 Aug 2021 10:04 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

टोक्यो ओलंपिक 2020 में देश के लिए मेडल लेकर लौटे भारतीय खिलाड़ियों को दिल्ली के अशोका होटल में सम्मानित किया गया। इस मौके पर खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने इन जाबांज प्लेयर्स की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि ओलंपिक 2020 में भारत की सफलता इस बात को दर्शाती है कि नया भारत दुनिया पर हावी होने की इच्छा और आकांक्षा रखता है। नीरज चोपड़ा, बजरंग पूनिया समेत भारत का ओलंपिक दल आज टोक्यो से स्वेदश लौटा और एयरपोर्ट पर सभी खिलाड़ियों का जोरदार स्वागत हुआ और फैन्स ने भारत माता की जय के नारे लगाए। एथलेक्टिक्स में देश को गोल्ड मेडल दिलाने वाले नीरज चोपड़ा की एक झलक पाने के लिए फैन्स काफी बेताब दिखे। भारत के लिए टोक्यो ओलंपिक काफी यादगार रहा और देश ने पहली बार 7 मेडल जीते। इस दौरान खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने गोल्ड मेडलिस्ट नीरज चोपड़ा से कहा कि हम आपको आज गोलगप्पा और चूरमा तो नहीं खिला पाए, लेकिन जब आप पीएम से मिलेंगे तो यह सब रहेगा।

 

 

 

खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने टोक्यो ओलंपिक में गोल्ड मेडल अपने नाम करने वाले नीरज चोपड़ा को स्मृति चिन्ह और शॉल भेंट की। ठाकुर ने कहा, टोक्यो 2020 में भारत के लिए कई ऐसी चीजें हुई जो ओलंपिक में पहली बार हुई। ओलंपिक में 'टीम इंडिया की सफलता इस बात को दर्शाती है कि कैसे नया भारत दुनिया पर हावी होने की इच्छा और आकांक्षा रखता है , यहां तक कि खेल में भी। ओलंपिक खेलों ने हमें दिखाया कि आत्म-अनुशासन और समर्पण के साथ हम चैंपियन बन सकते हैं। टीम इंडिया ने शानदार प्रदर्शन से प्रेरित किया, जबकि भारत के लोगों ने इस सफलता पर खुशी और जश्न मनाया।' भारत ने इस ओलंपिक में एक गोल्ड, दो सिल्वर और चार ब्रॉन्ज समेत 7 मेडल अपने नाम किए। पीवी सिंधु सिंधु और सिल्वर मेडल जीतने वालीं मीराबाई चानू समारोह में शामिल नहीं हुईं क्योंकि वे पहले ही भारत पहुंच गईं थीं और उनके सम्मान में समारोह आयोजित हो गया था। 

 

बॉक्सिंग में ब्रॉन्ज मेडल हासिल करने वालीं महिला मुक्केबाज लवलीना ने कहा, 'मैं घर वापस आकर बहुत खुश हूं। मुझे पता था कि भारत में लोग बहुत खुश होंगे लेकिन यहां वापस आने के बाद पहली बार इतना प्यार पाकर बहुत अच्छा लग रहा है। मैं इस तरह के और पदकों के लिए अपना बेस्ट प्रदर्शन करने की कोशिश करूंगी।' वहीं, रेसलिंग में कांस्य पदक जीतने वाले बजरंग पूनिया ने कहा कि उन्होंने सिर्फ अपना बेस्ट प्रदर्शन देने की कोशिश की। समारोह में उपस्थित लोगों में केंद्रीय कानून एवं न्याय मंत्री किरेन रीजीजू, खेल राज्य मंत्री निसिथ प्रमाणिक, सचिव (खेल) रवि मित्तल और भारतीय खेल प्राधिकरण के महानिदेशक संदीप प्रधान भी शामिल थे।

 

भारत के अभियान में कई चीजें पहली बार हुई, जिसमें अब तक का सबसे बड़ा 128 सदस्यीय खिलाड़ियों का दल, सात ओलंपिक पदक, एथलेटिक्स इवेंट में पहला ओलंपिक गोल्ड मेडल, सिंधु द्वारा लगातार खेलों (रियो और टोक्यो) में मेडल  और भारतीय पुरुष हॉकी टीम का 41 साल के बाद एक मेडल (ब्रॉन्ज) जीतना शामिल हैं। इसके साथ ही, महिला हॉकी टीम ने खेलों में अपना बेस्ट चौथा स्थान हासिल किया। खेल मंत्री ने कहा, 'हम अपने खिलाड़ियों का समर्थन करना जारी रखेंगे और हम भारत को एक खेल महाशक्ति बनाने का प्रयास करेंगे।' खेल मंत्री ने गोल्फर अदिति अशोक के चौथे स्थान पर रहने की भी तारीफ की। अनुराग ठाकुर के बाद रीजीजू ने सभी खिलाड़ियों के प्रदर्शन की प्रशंसा की और दोहराया कि भारत 2028 ओलंपिक तक एक ताकत बन जाएगा।

epaper