पाक ने डेविस कप मैच स्थल को बदलने के ITF के फैसले को चुनौती दी - pakistan ne davis cup ki jagah badalne ke itf ke faisle ko chunauti di DA Image
19 फरवरी, 2020|12:57|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाक ने डेविस कप मैच स्थल को बदलने के ITF के फैसले को चुनौती दी

पाकिस्तान ने भारत के खिलाफ डेविस कप मुकाबले को किसी तटस्थ स्थल पर स्थानान्तरित करने के अंतरराष्ट्रीय टेनिस महासंघ (आईटीएफ) के फैसले के खिलाफ इस विश्व संस्था में अपील दायर की।

mahesh bhupathi with coach jishan ali and player ramkumar ramanathan  ap

पाकिस्तान ने भारत के खिलाफ डेविस कप मुकाबले को किसी तटस्थ स्थल पर स्थानान्तरित करने के अंतरराष्ट्रीय टेनिस महासंघ (आईटीएफ) के फैसले के खिलाफ इस विश्व संस्था में अपील दायर की। उन्होंने कहा है कि इस्लामाबाद इसकी मेजबानी करने के लिए पूरी तरह से तैयार है। पाकिस्तान टेनिस महासंघ (पीटीएफ) के अध्यक्ष सलीम सैफुल्लाह ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय संस्था में औपचारिक अपील दर्ज कर दी गई है और उन्हें 15 नवंबर तक सकारात्मक जवाब मिलने की उम्मीद है। 

सैफुल्लाह ने कहा, ''हमने कहा है कि हम डेविस कप मुकाबले के वास्ते भारत की मेजबानी करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। किसी तरह का सुरक्षा मसला नहीं है और ना ही दोनों देशों के बीच राजनीतिक संबंधों के कारण मेजबानी का हमारा अधिकार छीना जाना चाहिए।'' उन्होंने कहा कि शनिवार को करतारपुर गलियारा खोले जाने में किसी तरह की गड़बड़ी नहीं हुई, जिससे साफ पता चलता है कि वर्तमान राजनयिक तनाव के बावजूद भारतीय डेविस कप टीम की इस्लामाबाद में मेजबानी करना संभव है। 

मुक्केबाजी ओलंपिक क्वॉलिफायर: सभी महिला वर्गों में ट्रायल 29-30 दिसंबर को

संदीप-सुमित ने टोक्यो पैरालंपिक के लिए किया क्वॉलिफाई

सैफुल्लाह ने कहा, ''हमारा मामला बहुत दमदार है क्योंकि इस मुकाबले को किसी तटस्थ स्थल पर स्थानान्तरित करने के लिए कोई व्यावहारिक तर्क नहीं है।'' पाकिस्तान को पहले डेविस कप एशिया ओसियाना ग्रुप एक मुकाबले के लिए 14 और 15 सितंबर को इस्लामाबाद के पाकिस्तान स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स के ग्रास कोर्ट पर भारत की मेजबानी करनी थी। इसी स्थल पर उसने 2017 और 2018 में उज्बेकिस्तान, कोरिया और थाइलैंड के खिलाफ मैच खेले थे। 

लेकिन आईटीएफ ने पहले इसे टाल दिया था और इस महीने के शुरू में उसने घोषणा की कि यह मुकाबला तटस्थ स्थल पर होगा, जिसका चयन पाकिस्तान करेगा। अखिल भारतीय टेनिस संघ (एआईटीए) ने मुकाबले का स्थल बदलने का आग्रह किया था। आईटीएफ ने कहा कि उसने अपने स्वतंत्र सुरक्षा सलाहकार की सिफारिशों पर यह फैसला किया। 

सैफुल्लाह ने कहा कि अगर उनकी अपील ठुकरा दी जाती है तो पीटीएफ के पास कुछ अन्य विकल्प भी हैं और वे उन पर काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ''हम आईटीएफ से कह सकते हैं कि हम तटस्थ स्थल का चयन नहीं करेंगे। हम उनसे आग्रह करेंगे कि वे एआईटीए से पूछें कि उनके खिलाड़ी जहां भी खेलना चाहते हैं वे उस स्थल का चुनाव करें।''

सैफुल्लाह ने कहा कि भारतीय अधिकारियों ने जमात उलेमा-इ-इस्लाम-फजल (जेयूआई-एफ) के वर्तमान रवैये का हवाला देकर आईटीएफ को मनाया कि उनके खिलाड़ी ऐसी परिस्थितियों में मैच पर ध्यान केंद्रित नहीं कर पाएंगे। उन्होंने कहा, ''उन्होंने आईटीएफ के सामने जेयूआई-एफ के नेताओं के आक्रामक रवैये का विशेष जिक्र किया। हमारे पास भारत को अपने घसियाले कोर्ट पर हराने का अच्छा मौका था और भारतीय इसे जानते हैं इसीलिए वे मुकाबले को टालने और उसे अन्य स्थल पर आयोजित करने के लिए सभी हथकंडे अपना रहे हैं।''

पाकिस्तान के शीर्ष खिलाड़ियों ऐसाम उल हक और अकील खान ने भी डेविस कप के स्थल को स्थानान्तरित करने के आईटीएफ के फैसले की आलोचना की है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:pakistan ne davis cup ki jagah badalne ke itf ke faisle ko chunauti di