अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

FIFA WC 2018:ईरानी फुटबॉल टीम को ऐन वक्त पर नाइकी कंपनी ने दिया धोखा

जूता आपूर्ति करने से नाइकी के मना करने के बाद खिलाड़ियों को प्रतिद्वंद्वियों से निपटने के साथ नए जूतों से सामंजस्य बैठाने की चुनौती का भी सामना करना होगा।

Nike Won't Supply Iran With Cleats for FIFA World Cup

खेल सामग्री बनाने वाली कंपनी नाइकी ने अमेरिकी प्रतिबंध के कारण वर्ल्ड कप से ठीक पहले ईरान की फुटबॉल टीम से अपना करार तोड़ दिया है। इससे अब ईरानी खिलाड़ियों को मैदान में नाइकी के जूतों के बिना ही उतरना होगा। ईरान के खिलाड़ी नाइकी के जूते का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन जूता आपूर्ति करने से नाइकी के मना करने के बाद खिलाड़ियों को प्रतिद्वंद्वियों से निपटने के साथ नए जूतों से सामंजस्य बैठाने की चुनौती का भी सामना करना होगा।

फीफा विश्व कप 2018 से जुड़ी खबरों के लिए लिंक पर क्लिक करें 

ईरान फुटबॉल संघ ने फीफा से की शिकायत
नाइकी ने कहा, 'अमेरिकी प्रतिबंधों का मतबल है कि अमेरिका की कंपनी नाइकी ईरान की राष्ट्रीय टीम को जूते की आपूर्ति नहीं कर सकेगी।' कंपनी ने हालांकि माना कि यह प्रतिबंध पहले से लगा है। ईरान के फुटबॉल महासंघ ने 2014 वर्ल्ड कप के दौरान प्रतिबंधों के बावजूद टीम को जूता आपूर्ति करने वाली नाइकी कंपनी के द्वारा 2018 वर्ल्ड कप से ठीक पहले लिए गए इस फैसले पर फीफा से स्पष्टीकरण की मांग की है।

FIFA WC 2018:फुटबॉल महाकुंभ की शुरुआत आज, जानें कब-कहां-कैसे देख सकेंगे मैच?

ईरान के कोच ने जताई नाराजगी
कंपनी के इस फैसले से गुस्साए ईरान के कोच कार्लोस क्विरोज ने कहा, 'खिलाड़ी अपनी खेल सामग्री को लेकर अभ्यस्त होते हैं और इतने बड़े टूर्नमेंट से एक सप्ताह पहले उसे बदलना सही नहीं है।' ईरान ग्रुप बी में है, जहां शुक्रवार को उसे मोरक्को के खिलाफ अपना पहला मैच खेलना है। इस ग्रुप में स्पेन और पुर्तगाल जैसी वर्ल्ड कप की दावेदार टीमें भी शामिल हैं। गौरतलब है कि ईरान की फुटबॉल टीम जापान और दक्षिण कोरिया को पीछे छोड़ते हुए एशिया की नंबर वन टीम बन गई है।

VIDEO: खेले बिना भी फुटबॉल विश्व कप 2018 की आत्मा बना हुआ है पाकिस्तान

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Nike refuse to provide Shoes for Irani Football Team Just few days before FIFA World Cup 2018 due to America Economic Sanctions Over Iran