फोटो गैलरी

Hindi News खेलNeeraj Chopra HT Leadership Summit: नीरज चोपड़ा क्यों बोले- जेवलिन में हर बार शत-प्रतिशत नहीं दे सकते

Neeraj Chopra HT Leadership Summit: नीरज चोपड़ा क्यों बोले- जेवलिन में हर बार शत-प्रतिशत नहीं दे सकते

Neeraj Chopra HT Leadership Summit: जेवलिन स्टार नीरज चोपड़ा से शुक्रवार को हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट 2023 में शिरकत की। नीरज ने समिट के चौथा दिन विभिन्न चीजों पर अपनी राय रखी।

Neeraj Chopra HT Leadership Summit: नीरज चोपड़ा क्यों बोले- जेवलिन में हर बार शत-प्रतिशत नहीं दे सकते
Md.akram लाइव हिंदुस्तान टीम,नई दिल्लीFri, 03 Nov 2023 06:52 PM
ऐप पर पढ़ें

भारत के जेवलिन स्टार नीरज चोपड़ा से शुक्रवार को हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट 2023 में शिरकत की। उन्होंने समिट के चौथा दिन नेशनल स्पोर्ट्स एडिटर आशीष मगोत्रा के साथ बातचीत की। ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट नीरज ने कहा कि जब वह मैदान में थ्रो करने के लिए जाते हूैं तो अलग ही जोन में होते हैं।

Neeraj Chopra HT Leadership Summit Updates

- हम जेवलिन में मेंटली में शत-प्रतिशत देते हैं लेकिन फिजिकली हर बार ऐसा नहीं होता। जेवलिन बहुत टेक्निकल गेम है। हर स्पोर्ट अलग होता है। यह टेनिस और बाकी खेलों से अलग है।

मुझे मालूम है कि हर एथलीट का समय एक जैसा नहीं रहता। मैं चाहता हूं कि मुझे कोई भारत का ही एथलीट बीट करे। भारत का झंडा बुलंद रहना चाहिए।

- खेल मेरी जिंदगी का हिस्सा है। अगर किसी दिन ट्रेनिंग न करूं तो ऐसा लगता है कि कुछ छूट रहा है। खेल में ट्रैनिंग की आदत अच्छी लगी है। मुझे लगता है कि एक एथलीट की लाइफ अच्छी रहती है। अपने देश का प्रतिनिधत्व करते हैं। अच्छा खाना खाते हैं। खुद को फिट रखते हैं। चैलेंज एक्सेप्ट करने में मजा आता है।

- मैं पेरिस ओलंपिक में खिता को डिफेंड करने का पूरा प्रयास करूंगा। खेल में इंजरी का खतरा होता है। कोशिश करूंगा कि पूरी तैयारी के साथ पेरिस जाऊं।

नीरज से पूछा गया कि जब आप प्रतियोगिता में उतरते हो तो हार का डर रहता है। उन्होंने जवाब में कहा कि मैं हारने के बाद यहां तक पहुंचा हूं। चीजें मेरी दिमाग पर इसलिए नहीं चढ़तीं कि क्योंकि मैंने हार को देखा है। प्रतियोगिता में अनेक एथलीट आते हैं। पता नहीं होता कि कब किस का दिन अच्छा हो।

- नीरज ने कहा कि जब मैदान में थ्रो करने के लिए जाता हूं तो शोर से बिलकुल भी ध्यान नहीं भटकता। उस वक्त अलग ही जोन में होता हूं।

बता दें कि 25 वर्षीय नीरज ने पिछले महीने एशियन गेम्स 2023 में स्वर्ण पर कब्जा जमाया। उन्होंने 88.88 मीटर के थ्रो के साथ गोल्ड जीता था। गोल्डन बॉय नाम से मशहूर नीरज के लिए यह साल अच्छा रहा है। उन्होंने एशियन गेम्स में धमाल मचाने से पहले वर्ल्ड चैंपियनशिप 2023 अपने नाम किया। वह वर्ल्ड चैंपियनशिप के 40 साल के इतिहास में गोल्ड जीतने वाले पहले भारतीय बने। हालांकि, नीरज डायमंड लीग 2023 में स्वर्ण हासिल करने में नाकाम रहे। वह 83.80 मीटर के थ्रो के साथ दूसरे स्थान पर रहे और सिल्वर जीता। नीरज पिछले साल डायमंड लीग ट्रॉफी जीतने वाले पहले भारतीय बने थे।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें