Hindi Newsखेल न्यूज़Neeraj Chopra family celebrates his Asian Games 2023 Gold father Satish Chopra Says he fulfilled his promise

नीरज चोपड़ा के परिवार ने एशियन गेम्स 2023 गोल्ड का ऐसे मनाया जश्न, पिता बोले- उसने अपना वादा पूरा किया

Neeraj Chopra wins gold at Asian Games 2023: भारत के 'गोल्डन ब्वॉय' नीरज चोपड़ा ने एशियन गेम्स 2023 में स्वर्ण पदक अपने नाम किया। नीरज के परिवार और रिश्तेदारों ने इस गोल्ड का जमकर जश्न मनाया।

Md.Akram लाइव हिंदुस्तान टीम, नई दिल्लीWed, 4 Oct 2023 10:21 PM
हमें फॉलो करें

भारत के स्टार भाला फेंक एथलीट नीरज चोपड़ा ने बुधवार को एशियन गेम्स 2023 में गोल्ड पर निशाना साधा। उन्होंने 88.88 मीटर के सर्वश्रेष्ठ थ्रो के साथ स्वर्ण जीता और अपने खिताब का बचाव किया। नीरज ने एशियन गेम्स 2018 में भी गोल्ड हासिल किया था। नीरज के फिर से एशियन गेम्स चैंपियन पर उनके परिवार और रिश्तेदारों ने गांव में जमकर जश्न मनाया। बता दें कि नीरज ने डेढ़ महीने से भी कम समय में दूसरा गोल्ड अपने नाम किया है। उन्होंने अगस्त के आखिर में वर्ल्ड एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में गोल्ड जीता था। वह चैम्पियनशिप में गोल्ड जीतने वाले पहले भारतीय बने थे।

नीरज हरियाणा में पानीपत के खंदरा गांव के रहने वाले हैं। नीरज ने जैसे ही हांगझोऊ एशियन गेम्स में गोल्ड पर कब्जा किया तो घर में मिठाई बंटनी शुरू हो गईं। परिवार वालों, रिश्तेदारों और गांव के निवासियों ने एक-दूसरे को मिठाई खिलाकर बधाई दी। अनेक लोग नीराज के मैदान में उतरने से पहले उनके आवास पर जमा हो गए थे। पिता सतीश चोपड़ा ने कहा, ''नीरज ने देश के लिए एक और गोल्ड मेडल जीतकर अपना वादा पूरा किया है। उसपर न सिर्फ परिवार बल्कि पूरे देश को गर्व है।''

गौरतलब है कि नीरज का पहला थ्रो तकनीकी समस्याओं के कारण रद्द कर दिया गया था। उसके बाद उन्होंने अपना पहला थ्रो दोबारा फेंका। नीरज चोपड़ा ने अपने चौथे प्रयास के साथ सीजन का सर्वश्रेष्ठ 88.88 मीटर थ्रो करते हुए एक नया रिकॉर्ड अपने नाम किया। वहीं, भारत को किशोर जेना ने पुरुष भाला फेंक स्पर्धा का सिल्वर अपनी झोली में डाला। जेना ने 87.54 मीटर के साथ रजत हासिल किया। जेना ने एक समय 86 .77 मीटर के अपने तीसरे थ्रो के साथ नीरज के खलाफ बढ़त बना ली थी लेकिन उसके बाद वह पिछड़ गए।

लेटेस्ट   Hindi News,   बॉलीवुड न्यूज,  बिजनेस न्यूज,  टेक ,  ऑटो,  करियर ,और   राशिफल, पढ़ने के लिए Live Hindustan App डाउनलोड करें।

ऐप पर पढ़ें