DA Image
8 अप्रैल, 2020|9:05|IST

अगली स्टोरी

मेरीकॉम बोलीं- ओलंपिक में गोल्ड जीतकर भारत रत्न बनना चाहती हूं

mc mary kom jpg

पद्म विभूषण के लिए चुनी गयी पहली महिला खिलाड़ी एमसी मेरीकॉम ने रविवार को कहा कि वह तोक्यो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतकर 'भारत रत्न' बनना चाहती हैं।  छह बार की विश्व चैम्पियन मुक्केबाज मेरीकाम ने यहां पत्रकारों से कहा, ''भारत रत्न हासिल करना सपना है। इस पुरस्कार (पद्म विभूषण) से मुझे और बेहतर करने की प्रेरणा मिलेगी ताकि मैं भारत रत्न बन सकूं। 

उन्होंने कहा, ''सचिन तेंदुलकर ही एकमात्र खिलाड़ी हैं जिन्हें इस पुरस्कार से नवाजा गया है और मैं भी इससे हासिल करना चाहती हूं और ऐसा करने वाली पहली महिला बनना चाहती हूं। मैं तेंदुलकर की राह पर चलना चाहती हूं और मुझे उनसे प्रेरणा मिलती है।' छत्तीस साल की मेरीकाम ने हालांकि कहा कि उनका लक्ष्य पहले ओलंपिक के लिये क्वालीफाई करना है और फिर वह पदक के रंग के बारे में सोचेंगी।

उन्होंने कहा, ''मेरा अभी लक्ष्य ओलंपिक के लिये क्वालीफाई करना है और फिर मैं पदक के रंग के बारे में सोचूंगी। अगर मैं क्वालीफाई कर लेती हूं और तोक्यो में स्वर्ण पदक जीत लेती हूं तो मैं भारत रत्न हासिल करने की उम्मीद कर सकती हूं।' भारत रत्न से नवाजा जाना सिर्फ एक खिलाड़ी के लिए ही नहीं बल्कि किसी भी भारतीय की उपलब्धियों का शीर्ष सम्मान है। भारत रत्न देश का सर्वश्रेष्ठ नागरिक सम्मान है।

Padma Awards 2020: विनेश फोगाट ने पद्म पुरस्कारों की चयन प्रक्रिया पर उठाए सवाल 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Mary Kom says I want to become Bharat Ratna after winning gold in Olympics