manika batra boli bachpan ke coach se alag hone ka faisla sahi tha - मनिका बत्रा बोलीं, बचपन के कोच से अलग होने का फैसला सही था DA Image
18 नबम्बर, 2019|7:39|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मनिका बत्रा बोलीं, बचपन के कोच से अलग होने का फैसला सही था

manika batra photo ht

भारत की स्टार महिला टेबल टेनिस खिलाड़ी मनिका बत्रा ने बचपन के कोच संदीप गुप्ता से अलग होने के फैसले को सही ठहराते हुए कहा कि पुणे को अभ्यास केंद्र बनाने से उन्हें काफी फायदा मिला। बत्रा को बखूबी पता है कि द्रोणाचार्य पुरस्कार प्राप्त गुप्ता से अलग होने के उनके फैसले को लेकर लोग काफी बातें करेंगे लेकिन उसका मानना है कि उसके खेल को सुधारने के लिये यह जरूरी फैसला था।

दो दशक से गुप्ता के मार्गदर्शन में खेल रही बत्रा के रिश्ते उनसे इतने खराब हो गए कि अब आपस में बातचीत भी नहीं है। अब वह सन्मय परांजपे के साथ अभ्यास करती हैं। वह पिछले महीने आईटीटीएफ रैंकिंग में 18 पायदान चढकर 61वें स्थान पर पहुंच गई। उसने प्रेस ट्रस्ट से कहा, ''अब मैं अपने खेल को लेकर आत्मविश्वास से ओतप्रोत हूं। मुझे फर्क महसूस हो रहा है। पुणे में माहौल काफी पॉजीटिव है और मेरे अभ्यास के साझेदार भी मेरे साथ काफी मेहनत कर रहे हैं।

जब रोहित-विराट नहीं राशिद खान की आवाजों से गूंजा भारत का ये स्टेडियम

राष्ट्रमंडल खेलों की स्वर्ण पदक और एशियाई खेलों की कांस्य पदक विजेता बत्रा को शीघ्र ही शीर्ष 50 में आने की उम्मीद है। उन्होंने कहा,'' मुझे शारीरिक रूप से और मजबूत होना होगा ताकि टेबल के आसपास मूवमेंट बेहतर हो सके। टेबल टेनिस में रिफ्लैक्स महत्वपूर्ण होते हैं। सभी कहते हैं कि मैं लंबी हूं तो मुझे आसानी होती है लेकिन हाथ के साथ पहुंचना काफी नहीं है। पैर के मूवमेंट भी जरूरी है। मैं उस पर काम कर रही हूं।

FIFA WC qualifier: दो मैचों के लिए युवा धीरज भारतीय टीम में शामिल

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:manika batra boli bachpan ke coach se alag hone ka faisla sahi tha