DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

AIBA Rankings: 'सुपर मॉम' मैरीकॉम बन गईं नंबर-1

मेरीकॉम को 2020 ओलंपिक का सपना पूरा करने के लिए 51 किग्रा में खेलना होगा क्योंकि 48 किग्रा को अभी तक खेलों के वजन वर्ग में शामिल नहीं किया गया है।

Mary Kom (PTI)

'मैग्नीफिशेंट मेरी' के नाम से मशहूर भारतीय महिला मुक्केबाज एम सी मेरीकॉम पिछले साल छठे वर्ल्ड चैम्पियनशिप खिताब की बदौलत अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ (एआईबीए) की विश्व रैंकिंग में नंबर एक स्थान पर पहुंच गई हैं। मणिपुर की इस मुक्केबाज ने पिछले साल नवंबर में दिल्ली में हुई विश्व चैम्पियनशिप में इतिहास रचते हुए 48 किग्रा वर्ग का खिताब अपनी झोली में डाला था, जिससे वो टूर्नामेंट की सबसे सफल मुक्केबाज बन गईं।

एआईबीए की अपडेट हुई रैंकिंग में मेरीकॉम ने अपने वजन वर्ग में 1700 अंक लेकर टॉप पर काबिज हैं। मेरीकॉम को 2020 ओलंपिक का सपना पूरा करने के लिए 51 किग्रा में खेलना होगा क्योंकि 48 किग्रा को अभी तक खेलों के वजन वर्ग में शामिल नहीं किया गया है। तीन बच्चों की मां इस 36 साल की मुक्केबाज ने 2018 में शानदार प्रदर्शन किया था, उन्होंने विश्व चैम्पियनशिप के अलावा राष्ट्रमंडल खेलों और पोलैंड में एक टूर्नामेंट में पहला स्थान हासिल किया था।

बार वर्ल्ड चैंपियन रहीं मैरीकॉम ने गाया ये रोमांटिक गाना,VIDEO VIRAL

AIBA WWBC 2018: मैरीकॉम ने​ रिकॉर्ड छठी बार विश्व खिताब पर जमाया कब्जा

उन्होंने बुल्गारिया में प्रतिष्ठित स्ट्रैंड्जा मेमोरियल में सिल्वर मेडल जीता था। अन्य भारतीयों में पिंकी जांगड़ा 51 किग्रा लिस्ट में आठवें स्थान पर काबिज है। एशियाई सिल्वर मेडलिस्ट मनीषा माउन भी 54 किग्रा वर्ग में इसी स्थान पर हैं। विश्व चैम्पियनशिप में सिल्वर मेडलिस्ट सोनिया लाठेर 57 किग्रा में दूसरे स्थान पर हैं। विश्व चैम्पियनशिप की ब्रॉन्ज मेडलिस्ट सिमरनजीत कौर (64 किग्रा) हाल में राष्ट्रीय चैम्पियन बनीं, वो अपने वर्ग में चौथे स्थान पर हैं जबकि पूर्व विश्व चैम्पियन एल सरिता देवी 16वें स्थान पर है।। इंडिया ओपन की गोल्ड मेडलिस्ट और विश्व चैम्पियनशिप की ब्रॉन्ज मेडलिस्ट लवलीना बोरगोहेन 69 किग्रा वर्ग में पांचवें स्थान पर हैं। पुरुषों की रैंकिंग अपडेट नहीं हुई है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Magnificent Mary Becomes World No1 In AIBA Rankings