DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

VIDEO: एकेडमी ट्रॉयल में 6 धावकों के बीच आखिरी स्थान पर रहे रामेश्वर गुर्जर

बीते दिनों 100 मीटर की रेस करीब 11 सेकंड में पूरी करके देश भर में चर्चा का केंद्र बने रामेश्वर गुर्जर भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) के सीनियर कोचों द्वारा लिए गए ट्रॉयल्स में फिसड्डी साबित हुए।

rameshwar gurjar jpg

बीते दिनों 100 मीटर की रेस करीब 11 सेकंड में पूरी करके देश भर में चर्चा का केंद्र बने रामेश्वर गुर्जर भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) के सीनियर कोचों द्वारा लिए गए ट्रॉयल्स में फिसड्डी साबित हुए। बीते दिनों 19 साल के गुर्जर का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था, जिसमें वह 100 मीटर की रेस करीब 11 सेकंड में पूरी करते हुए दिखाए दिए थे। इसके बाद केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू ने मध्य प्रदेश का 'उसैन बोल्ट' कहे जाने वाले रामेश्वर को एथलेटिक्स अकादमी में डालने और प्रशिक्षित करने का आश्वासन दिया था। रामेश्वर जब भोपाल के तांत्या टोपे नगर स्थित अकादमी में राज्य सरकार और भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) के सीनियर कोचों की देखरेख में ट्रॉयल्स देने पहुंचे तो वह इसमें सबसे पीछे रह गए।

Read Also: VIDEO: 11 सेकंड में 100m दौड़ने वाले रामेश्वर गुर्जर बोले- तोड़ सकता हूं बोल्ट का रिकॉर्ड 

ट्रॉयल में अपने सर्वश्रेष्ठ से भी 1.90 सेकेंड पीछे रहे गुर्जर
रिजिजू ने खुद ट्वीट करके उनके ट्रॉयल्स होने की जानकारी दी। रामेश्वर ट्रॉयल्स में छह अन्य एथलीटों के साथ दौड़े, लेकिन वह आखिरी नंबर पर रहे। उन्होंने अपने रेस को पूरा करने के लिए 12.90 सेकेंड का समय लिया, जो अंतरराष्ट्रीय क्या, राष्ट्रीय मानकों पर भी कहीं नहीं ठहरता। भारत में 100 मीटर का राष्ट्रीय रिकॉर्ड 10.26 सेकेंड है। रामेश्वर के साथ दौड़े आयुष तिवारी पहले स्थान पर रहे। रामेश्वर ने ट्रॉयल्स में फेल होने पर कहा कि पहली बार ट्रैक पर जूते पहनकर दौड़ा इसलिए पीछे रह गया। उन्होंने कहा कि उनकी कमर में दर्द भी था, लेकिन वह एक महीने बाद फिर से लोगों की उम्मीदों पर खरा उतरने की कोशिश करेंगे। 

किरेन रिजिजू ने ट्वीट कर दी गुर्जर के ट्रॉयल की जानकारी
वहीं, रिजिजू ने ट्विटर पर लिखा, 'रामेश्वर गुर्जर का ट्रॉयल टीटी नगर स्टेडियम में आयोजित हुआ, जहां साई और राज्य सरकार के कोच मौजूद थे। रामेश्वर वीडियो में सबसे बाईं ओर (लेन 9) में दौड़ रहे हैं। सुर्खियों में आने के चलते उन पर प्रदर्शन का दबाव इतना था कि वह अच्छा प्रदर्शन नहीं दे पाए। हम उन्हें पयार्प्त समय और ट्रेनिंग देंगे।' रामेश्वर मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले के निवासी हैं। वह नंगे पैर दौड़ते हुए 100 मीटर दौड़ 11 सेकेंड में पूरी करने में सफल रहे थे। इसे देखते हुए मध्य प्रदेश के खेल मंत्री जीतू पटवारी ने भी रामेश्वर को भोपाल में बेहतर प्रशिक्षण देने की बात कही थी। खेल मंत्री ने रामेश्वर की तरह उभरती ग्रामीण खेल प्रतिभाओं को प्रोत्साहित करने के लिए हरसंभव सहयोग का भरोसा दिलाया था।

सभी खेलों से जुड़े समाचार पढ़ें सबसे पहले Live Hindustan पर। अपने मोबाइल पर Live Hindustan पढ़ने के लिए डाउनलोड करें हमारा न्यूज एप। और देश-दुनिया की हर खबर से रहें अपडेट।    

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Madhya Pradesh Sprinter Rameshwar Gurjar finishes at last position in National Academy Trial Union Sports Minister Kiren Rijiju Tweeted