DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   खेल  ›  बासिर्लोना छोड़ने के लिए मेसी को करना होगा 83.3 करोड़ डॉलर का भुगतान

खेलबासिर्लोना छोड़ने के लिए मेसी को करना होगा 83.3 करोड़ डॉलर का भुगतान

एजेंसी,नई दिल्लीPublished By: Mohan Kumar
Sun, 30 Aug 2020 11:00 PM
बासिर्लोना छोड़ने के लिए मेसी को करना होगा 83.3 करोड़ डॉलर का भुगतान

अपने फुटबॉल क्लब बार्सिलोना को छोड़ने की घोषणा कर चुके अर्जेंटीना के दिग्गज फुटबॉलर और दुनिया के सर्वश्रेष्ठ स्ट्राइकरों में से एक लियोनल मेसी रविवार को बार्सिलोना के सत्र से पहले के मेडिकल टेस्ट में शामिल नहीं हुए जबकि ला लीगा ने कहा है कि मेसी का अनुबंध अभी वैध है और उन्हें बार्सिलोना छोड़ने के लिए रिलीज नियम के अनुसार 83.3 करोड़ डॉलर का भुगतान करना होगा।

टीम के कई खिलाड़ी रविवार की सुबह टेस्ट के लिए पहुंचे लेकिन मेसी नहीं आए। उन्हें स्थानीय समय के अनुसार सुबह सवा दस बजे मैदान पर होना चाहिए था। खिलाड़ियों को टेस्ट के लिए अलग-अलग समय दिया गया था। मीडिया रिपोर्टों में शनिवार को ही कह दिया गया था कि मेसी न तो प्री सत्र मेडिकल में आएंगे और न ही सोमवार को ट्रेनिंग में शामिल होंगे।

इस बीच ला लीगा ने रविवार को बयान जारी कर कहा कि मैसी का अनुबंध अभी वैध है। ला लीगा ने कहा कि नियम के अनुसार ला लीगा स्पेन फुटबॉल महासंघ के साथ पंजीकृत किसी खिलाड़ी को अनुबंध तोड़ने की तब तक अनुमति नहीं दे सकता जब तक रिलीज नियम में निर्धारित राशि का भुगतान नहीं कर दिया जाता।

भारत के चेस ओलंपियाड में गोल्ड जीतने पर पीएम नरेंद्र मोदी ने टीम को दी बधाई

33 साल के मेसी ने मंगलवार को बार्सिलोना को बताया था कि वह अपने अनुबंध में 70 करोड़ यूरो (83.3 करोड़ डॉलर) का रिलीज नियम होने के बावजूद क्लब छोड़ना चाहते हैं। अर्जेंटीना टीवी चैनल टीवाईसी स्पोर्ट्स के मुताबिक मेसी ने अपने अनुबंध समाप्ति को लेकर क्लब को पंजीकृत फैक्स भेजा था जिसमें एक नियम को रेखांकित किया गया था जो उन्हें इस सत्र के अंत में अपने अनुबंध को रद्द करने की एकतरफा अनुमति देता है।

बार्सिलोना के अखबार 'एल मुंडो डेपोर्टिवो' के मुताबिक क्लब को मेसी का पत्र मिला था लेकिन उनके पास अनुबंध समाप्त करने के लिए 10 जून तक का समय था जो अब समाप्त हो चुका है। वहीं मेसी के अनुसार यह बेतुकी बात है क्योंकि बार्सिलोना का अभियान 14 अगस्त को चैंपियन लीग में बायर्न म्यूनिख के हाथों 2-8 से मिली करारी शिकस्त के बाद जाकर खत्म हुआ था।

भारत ने रचा इतिहास, वर्ल्ड चेस ओलंपियाड में पहली बार जीता गोल्ड

संबंधित खबरें