DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   खेल  ›  ISSF WC: अंदरूनी विवाद के चलते हंगरी हटा, भारत और अमेरिका में अब एक दिन बाद होगा फाइनल

खेलISSF WC: अंदरूनी विवाद के चलते हंगरी हटा, भारत और अमेरिका में अब एक दिन बाद होगा फाइनल

भाषा,नई दिल्लीPublished By: Namita Shukla
Thu, 25 Mar 2021 05:35 PM
ISSF WC: अंदरूनी विवाद के चलते हंगरी हटा, भारत और अमेरिका में अब एक दिन बाद होगा फाइनल

अपने स्टार शूटर पीटर सिडी से जुड़े विवाद के कारण हंगरी के हट जाने से आईएसएसएफ शूटिंग वर्ल्ड कप में मेंस की 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशन का भारत के खिलाफ होने वाला फाइनल गुरुवार को स्थगित कर दिया गया। गोल्ड मेडल के लिए होने वाला यह मुकाबला अब मेजबान भारत और तीसरे नंबर की टीम अमेरिका के बीच शुक्रवार को होगा। भारत और हंगरी बुधवार को क्वालीफिकेशन दौर के बाद पहले और दूसरे स्थान पर रहे थे। दोनों टीमों को गुरुवार को 11 बजे फाइनल खेलना था, लेकिन हंगरी की टीम के निशानेबाज इस्तवान पेनी और जावान पेकलर ने तकनीकी अधिकारियों के साथ बातचीत के बाद सिडी के साथ खेलने से इंकार कर दिया।

ऐश्वर्य प्रताप सिंह ने ने जीता 50 मीटर राइफल इवेंट में गोल्ड मेडल

42 साल के सिडी पांच बार के ओलंपियन और पूर्व वर्ल्ड चैंपियन हैं, उन्होंने 2010 में म्यूनिख वर्ल्ड चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीता था। टूर्नामेंट से जुड़े एक सूत्र ने बताया, 'हंगरी की टीम ने सिडी के खिलाफ बगावत कर दी है। वह नियमों का सहारा ले रहा है। यह हंगरी की निशानेबाजी टीम का अंदरूनी मामला है, जो पिछले चार-पांच सालों से चल रहा है। पिछले एक साल से यह मामला गरमाया हुआ है और पिछले साल राष्ट्रीय चैंपियनशिप में भी यह मुद्दा उठा था।' सूत्रों के अनुसार, 'पूरा मसला सिडी के बाइपोड को लेकर है, जिसे वह अपने राइफल बैरल के आखिर में जोड़ते हैं। सिडी का कहना है कि वह भार संतुलन के लिए दो पाया के स्टैंड का उपयोग कर रहा था, जो कि आईएसएसएफ (अंतरराष्ट्रीय निशानेबाजी संघ) के नियमों के अनुरूप है। वह टूर्नामेंट के दौरान राइफल को स्थिर करने के लिए ऐसा नहीं कर रहे हैं, जिसकी तकनीकी तौर पर अनुमति नहीं है, लेकिन पेनी और उनके अन्य साथियों ने इस पर आपत्ति जताई।'

ISSF वर्ल्ड कप:गनीमत-अंगद की जोड़ी ने मिक्स स्कीट इवेंट में जीता गोल्ड

उन्होंने कहा कि आईएसएसएफ के तकनीकी प्रतिनिधिमंडल के पास इसकी शिकायत की गई थी, लेकिन उन्हें इसमें कुछ भी गलत नहीं लगा। बुधवार को क्वालीफाइंग दौर में नीरज कुमार, स्वप्निल कुसाले और चैन सिंह की भारतीय टीम ने 875 के स्कोर के साथ फाइनल में जगह बनाई। हंगरी के पेनी, पेकलर और सिडी दूसरे स्थान पर रहे थे। अमेरिका के निकोलस मोवरर, टिमोथी शेरी और पैट्रिक सुंदरमन तीसरे स्थान पर रहे, जबकि चौथी टीम कीनिया ने शुरुआत ही नहीं की थी। भारत अभी नौ गोल्ड, छह सिल्वर और पांच ब्रोन्ज मेडल सहित कुल 20 मेडल लेकर प्वॉइंट टेबल में टॉप पर है।

संबंधित खबरें