issf world cup 2019 saurabh chaudhary wins gold manu bhaker finishes 5th - ISSF World Cup 2019 :  अच्छी शुरुआत के बावजूद मनु भाकर ने किया निराश DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ISSF World Cup 2019 :  अच्छी शुरुआत के बावजूद मनु भाकर ने किया निराश

Manu Bhaker.jpg

भारत के 16 वर्षीय निशानेबाज सौरभ चौधरी ने कई दिग्गज खिलाड़ियों की मौजूदगी में रविवार (24 फरवरी) को यहां आईएसएसएफ विश्व कप में नए विश्व रिकॉर्ड के साथ स्वर्ण पदक हासिल किया और देश के लिए टोक्यो ओलंपिक का तीसरा कोटा सुनिश्चित किया लेकिन मनु भाकर को निराशा हाथ लगी। पहली बार विश्व कप में भाग ले रहे चौधरी ने पुरुषों की 10 मी एयर पिस्टल स्पर्धा में बिना किसी परेशानी के शीर्ष स्थान प्राप्त किया। क्वालिफाईंग में शीर्ष पर रही मनु अच्छी शुरुआत के बावजूद महिलाओं की 25 मीटर पिस्टल स्पर्धा में पांचवें स्थान पर रही। 

एशियाई खेलों और युवा ओलंपिक के स्वर्ण पदक विजेता चौधरी ने कुल 245 अंक बनाये। सर्बिया के दामी मिकेच 239.3 अंक के स्कोर से दूसरे स्थान पर रहे जबकि कांस्य पदक चीन के वेई पांग ने हासिल किया। उन्होंने 215.2 अंक का स्कोर बनाया। सौरभ ने आठ पुरुषों के फाइनल में दबदबा बनाया और रजत पदकधारी से 5.7 अंक आगे रहे। इस तरह उन्होंने अंतिम शाट से पहले ही स्वर्ण पदक सुनिश्चित कर लिया था। 

ISSF World Cup 2019: सौरभ चौधरी ने 10m एयर पिस्टल में जीता गोल्ड मेडल, हासिल किया ओलंपिक कोटा

अच्छी शुरुआत के बावजूद सौरभ पहली सीरीज के बाद सर्बियाई निशानेबाज के साथ बराबरी पर थे। दूसरी सीरीज में भी इस चैम्पियन निशानेबाज ने अच्छी फॉर्म जारी रखी और पहला स्थान हासिल किया। चौधरी ने स्वर्ण पदक जीतने के बाद कहा, ''मैंने केवल वही करने की कोशिश की जो मैं अमूमन करता रहा है। मैंने कभी कोटा या विश्व रिकॉर्ड के बारे में नहीं सोचा। ऐसा होता तो मैं यहां नहीं होता।''

इस स्पर्धा में भाग लेने वाले अन्य भारतीय अभिषेक वर्मा और रविंदर सिंह फाइनल के लिए क्वालीफाई नहीं कर सके। इन दोनों ने क्वालीफिकेशन राउंड में 576 का समान स्कोर बनाया। चौधरी ने 10 से अधिक अंक के 19 स्कोर बनाये। इस भारतीय के नाम दस मीटर एयर पिस्टल में जूनियर वर्ग का रिकॉर्ड भी है और इसमें उन्होंने सीनियर विश्व रिकॉर्ड से अधिक अंक बनाए थे। 

सौरभ चौधरी ने पिछले साल जर्मनी में जूनियर विश्व कप में भी स्वर्ण पदक जीता था। इसके अलावा वह जूनियर विश्व चैंपियन और युवा ओलंपिक चैंपियन भी हैं। क्वालीफिकेशन में चौधरी 587 के स्कोर के साथ तीसरे स्थान पर रहे। दक्षिण कोरिया के ली डेमयुंग ने 588 अंक और वेई पांग ने 587 अंक बनाए थे। दिन की आखिरी स्पर्धा महिलाओं की 25 मीटर पिस्टल की थी जिसमें हंगरी की वेरोनिका मेजर ने कुल 40 का स्कोर बनाकर नए विश्व रिकॉर्ड के साथ स्वर्ण पदक जीता। चीन की जिंगजिंग झांग ने रजत और ईरान के हनीया रोस्तामियां ने कांस्य पदक जीता। हंगरी और चीन को ओलंपिक कोटा मिला।  

राष्ट्रमंडल खेल और युवा ओलंपिक खेलों की स्वर्ण पदक विजेता मनु ने कर्णी सिंह रेंज पर केवल 22 अंक बनाए। उन्होंने पहली सीरीज में पांच में से तीन अंक बनाये। इसके बाद भी वह सुधार नहीं कर पायी और सातवें स्थान पर खिसक गई। 

ओलंपिक कोटा हासिल करना टोक्यो जाने की गारंटी नहीं : रवि कुमार

मनु ने 590 अंक बनाकर फाइनल के लिए क्वालीफाई किया था जबकि राही सरनोबत और चिंकी यादव आगे बढ़ने में नाकाम रही थी। पुरुषों की 50 मीटर राइफल थ्री पोजीशन में भारतीय निशानेबाज फाइनल के लिए क्वालीफाई करने में नाकाम रहे। इस स्पर्धा में हंगरी के इस्तवान पेनी ने स्वर्ण पदक जीता। 

भारत के पारूल कुमार क्वालीफिकेशन में 1170 अंक के साथ 22वें जबकि संजीव राजपूत 1169 अंक लेकर 25वें स्थान पर रहे। चौधरी ने भारत को टूर्नामेंट में दूसरा पदक दिलाया। इससे पहले अपूर्वी चंदेला ने शनिवार को महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल में स्वर्ण पदक जीता था। चंदेला और अंजुम मोदगिल ने पिछले साल कोरिया में आईएसएसएफ विश्व चैंपियनशिप में भारत को पहले दो ओलंपिक कोटा दिलाए थे। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:issf world cup 2019 saurabh chaudhary wins gold manu bhaker finishes 5th