DA Image
27 जुलाई, 2020|11:42|IST

अगली स्टोरी

भारतीय पुरुष रिकर्व तीरंदाजी टीम को ओलंपिक कोटा, महिला टीम विफल

लंदन ओलंपिक 2012 के बाद यह पहला मौका है, जब भारतीय पुरुषों ने टीम कोटा हासिल किया है। भारतीय टीम में तरुणदीप राय, अतनु दास और प्रवीण जाधव शामिल हैं।

sai media twitter

भारत की रिकर्व पुरुष तीरंदाजी टीम ने बुधवार को यहां विश्व चैंपियनशिप में कनाडा को 5-3 से हराकर क्वार्टर फाइनल में जगह बनाते हुए 2020 टोक्यो खेलों के लिए ओलंपिक कोटा हासिल किया। लंदन ओलंपिक 2012 के बाद यह पहला मौका है, जब भारतीय पुरुषों ने टीम कोटा हासिल किया है। भारतीय पुरुष टीम रियो ओलंपिक 2016 के लिए क्वॉलिफाई करने में विफल रही थी और व्यक्तिगत वर्ग में भी अतनु दास प्री क्वार्टर फाइनल में हार गए थे। भारतीय टीम में तरुणदीप राय, अतनु दास और प्रवीण जाधव शामिल हैं।

लंदन ओलंपिक में भारतीय टीम का हिस्सा रहे दो बार के ओलंपियन तरुणदीप राय ने कहा, ''हमने अंतत: कर दिखाया। एक टीम के रूप में हम अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और अब टोक्यो खेलों को लेकर उत्सुक हैं।'' उन्होंने कहा, ''मुझे यकीन है कि विरोधी टीमों पर भी इसी तरह का दबाव है। इसलिए अहम यह है कि धैर्य रखा जाए और यह हमारे लिए अच्छा रहा।''

WC 2019: सानिया मिर्जा ने भारत-पाक वर्ल्ड कप मैच से पहले किया ये ट्वीट

क्वॉलिफाइंग राउंड में छठे स्थान पर रहने के बाद कनाडा को पहले दौर में बाई मिला था। सीधे प्री क्वार्टर फाइनल में खेल रही कनाडा की टीम के खिलाफ भारत ने अच्छी शुरुआत की और भारतीय तिकड़ी ने तीन परफेक्ट शाट से शुरुआत की। भारतीय टीम ने पहला सेट 56-55 से जीता।

दूसरे सेट की भी अच्छी शुरुआत करते हुए भारतीय तिकड़ी ने पहले सेट से एक अधिक अंक जुटाया और इसे 57-56 से जीतकर 4-0 की बढ़त बनाई। एरिक पीटर्स, क्रिसपिन डुएनास और ब्रायन मैक्सेल की तिकड़ी ने तीसरा सेट 58-54 से जीतकर मुकाबले को रोमांचक बनाया।

भारत को जीत के लिए अंतिम सेट में टाई की दरकार थी और 57-57 के स्कोर से भारत ने मुकाबला 5-3 से जीतकर ओलंपिक कोटा हासिल किया। क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने वाली टीमों को तीन खिलाड़ियों का पूर्ण कोटा मिलेगा जबकि टीम स्पर्धा में क्वालीफाई नहीं करने वाली टीमों के शीर्ष चार व्यक्तिगत तीरंदाजों को अपने अपने देश के लिए एक स्थान मिलेगा।

इंटरकॉन्टिनेंटल कप: स्टीमाक ने संन्यास ले चुके अनस को शिविर में किया शामिल 

इससे पहले 39वें वरीय अभिषेक वर्मा, भगवान दास (35वें) और रजत चौहान (88वें) तथा महिला तीरंदाज ज्योति सुरेखा (17वें) ने कंपाउंड वर्ग के तीसरे दौर में जगह बनाई। रैंकिंग दौर में शीर्ष आठ में जगह बनाने वाली मुस्कान किरार को राउंड आफ 32 में बाई मिला।

मुस्कान की अगुआई में भारतीय कंपाउंड टीम ने 2099 अंक के साथ रैंकिंग दौर में कोलंबिया (2111) और कोरिया (2101) के बाद तीसरा स्थान हासिल किया था। टीम ने सीधे प्री क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया और वहां फ्रांस को 236-226 से हराकर क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई।

क्वॉलिफाइंग राउंड में 14वें स्थान पर रही भारतीय कंपाउंड पुरुष टीम ने पहले दौर में स्पेन को 235-229 से हराकर प्री क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई जहां उसका सामना तीसरे वरीय तुर्की से होगा। भारत कंपाउंड मिश्रित पेयर स्पर्धा में भी पदक की दौड़ में है, जहां वर्मा और मुस्कान ने क्वाॉलिफाइंग में शीर्ष आठ में रहते हुए सीधे अंतिम 16 में जगह बनाई जहां उसका सामना जर्मनी से होगा।

महिला रिकर्व टीम को हालांकि हार का सामना करना पड़ा। सीनियर तीरंदाज बोमबायला देवी एक बार फिर नाकाम रही जबकि कोमालिका बारी की अनुभवहीनता का भारत को नुकसान उठाना पड़ा और टीम अपने से कम रैंकिंग वाले बेलारूस से 2-6 से हार गई। टीम की तीसरी सदस्य दीपिका कुमारी थी। महिला टीम को ओलंपिक कोटा हासिल करने का अंतिम मौका बर्लिन में 2020 विश्व कप चरण तीन में मिलेगा जहां से शीर्ष तीन टीमें क्वॉलिफाई करेंगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Indian mens archery team bags Olympic quota women misfire