Indian Mens and Womens Hockey Team Face Defeat in the Final of Youth Olympics 2018 Hockey Event - YOUTH OLYMPICS 2018: हॉकी के फाइनल में हारी भारत की मेंस और विमेंस टीम DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

YOUTH OLYMPICS 2018: हॉकी के फाइनल में हारी भारत की मेंस और विमेंस टीम

यूथ ओलंपिक 2018 की हॉकी प्रतियोगिता में मलेशिया की पुरूष और अर्जेंटीना की महिला टीमों ने पहली बार स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रचा। 

Youth Olympics 2018.jpg

भारत युवा ओलंपिक खेलों की हॉकी फाइव प्रतियोगिता में अपने अभियान का शानदार अंत करने में नाकाम रहा और उसे पुरूष और महिला दोनों वर्गों के फाइनल में हारने के कारण रजत पदक से संतोष करना पड़ा। भारतीय पुरूष टीम को रविवार को खेले गए फाइनल में मलेशिया से 2-4 से जबकि महिला टीम को मेजबान अर्जेंटीना के हाथों 1-3 से हार का सामना करना पड़ा। मलेशिया की पुरूष और अर्जेंटीना की महिला टीमों ने पहली बार स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रचा। 
         
अर्जेंटीना की पुरूष टीम और चीन की महिला टीम ने कांस्य पदक जीते। अर्जेंटीना की पुरूष टीम ने तीसरे स्थान के लिए खेले गए मैच में जांबिया को 4-0 से जबकि चीन की महिला टीम ने दक्षिण अफ्रीका को 6-0 से हराया। पुरूष वर्ग के स्वर्ण पदक के मैच में भारत ने विवेक सागर प्रसाद के गोल से दूसरे मिनट में ही बढ़त हासिल कर ली थी। मलेशिया ने हालांकि दो मिनट बाद ही बराबरी का गोल दाग दिया। उसकी तरफ से यह गोल फिरदौस रोस्दी ने किया।

    
बढ़त बनाने के बावजूद हारी भारत की मेंस टीम     
प्रसाद ने पांचवें मिनट में दूसरा गोल करके भारत को फिर से 2-1 से आगे कर दिया और उसने मध्यांतर तक यह बढ़त बरकरार रखी। मध्यांतर के बाद मलेशिया ने शानदार वापसी की। उसकी तरफ से अकीमुल्लाह अनवर ने 13वें मिनट में दूसरा गोल दागा जबकि अमीरूल अजहर ने तीन मिनट बाद उसे बढ़त दिलायी। जब खेल समाप्त होने में दो मिनट का खेल बचा था जब अनवर ने अपना दूसरा और टीम की तरफ से चौथा गोल किया। 
    

 

अर्जेंटीना की टीम को होम कंडीशन का मिला फायदा     
महिलाओं के फाइनल में अर्जेंटीना ने दर्शकों के अपार समर्थन के बीच प्रभावशाली प्रदर्शन किया। भारत ने 49वें सेकेंड में ही मुमताज खान के गोल से बढ़त हासिल करके दर्शकों को सन्न कर दिया। अर्जेंटीना ने हालांकि धैर्य बनाये रखा और छठे मिनट में जियानिला पेलेट ने उसे बराबरी दिला दी। सोफिया रामेलो ने नौवें मिनट में अपनी टीम को बढ़त दिलायी। मध्यांतर तक अर्जेंटीना 2-1 से आगे था। ब्रिसा ब्रूगेसर ने दूसरे हाफ के दूसरे मिनट में उसकी तरफ से तीसरा गोल किया। भारत ने वापसी के लिए काफी कोशिश की लेकिन अर्जेंटीना ने उसे मौका नहीं दिया। दोनों वर्गों के फाइनल में हारने के बावजूद भारतीय टीमों के लिए यह खुशी की बात है कि वे पहली बार युवा ओलंपिक खेलों में पदक जीतने में सफल रही हैं।

सुल्तान जोहोर कप हॉकी टूर्नामेंट के फाइनल में ब्रिटेन ने भारत को 3-2 से हराया

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Indian Mens and Womens Hockey Team Face Defeat in the Final of Youth Olympics 2018 Hockey Event