DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   खेल  ›  अमित पंघल की हार के खिलाफ भारत का विरोध नामंजूर, करना पड़ा रजत से संतोष

खेलअमित पंघल की हार के खिलाफ भारत का विरोध नामंजूर, करना पड़ा रजत से संतोष

एजेंसी,दुबईPublished By: Mohan Kumar
Tue, 01 Jun 2021 06:51 AM
अमित पंघल की हार के खिलाफ भारत का विरोध नामंजूर, करना पड़ा रजत से संतोष

भारत के डिफेंडिंग चैंपियन अमित पंघल (52 किग्रा) को एएसबीसी एशियाई महिला एवं पुरुष मुक्केबाजी चैंपियनशिप के फाइनल मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा। फाइनल मुकाबले में रियो ओलंपिक के गोल्ड मेडलिस्ट और मौजूदा विश्व चैंपियन उज्बेकिस्तान के मुक्केबाज जोइरोव शाखोबिदीन ने उन्हें 2-3 के अंतर से हराया। इस नतीजे के तुरंत बाद भारत ने अपना विराेध दर्ज कराया, लेकिन जूरी कमीशन ने भारत के विरोध को मंजूर नहीं किया।

भारत ने इस मुकाबले के राउंड दो के फैसले के खिलाफ विरोध दर्ज कराया। भारतीय मुक्केबाजी संघ ने ट्विटर पर यह जानकारी दी है। दिन में भारत के संजीत के 91 किग्रा में अपना मुकाबला जीतने के बाद भारतीय मुक्केबाजी संघ ने बताया कि जूरी कमीशन ने उसका विरोध मंजूर ही नहीं किया और अमित को रजत पदक से संतोष करना पड़ा।

जुर्माना लगने पर नाओमी ओसाका ने फ्रेंच ओपन टेनिस से वापस लिया नाम   

भारत को टूर्नामेंट में मिली अभूतपूर्व सफलता 

अमित का प्रदर्शन टूर्नामेंट में काफी शानदार रहा था और उन्होंने सेमीफाइनल मैच में एकतरफा जीत हासिल की थी। भारतीय दल ने पहले ही अभूतपूर्व सफलता हासिल करते हुए 15 पदक अपने नाम कर लिए हैं। यह इस चैम्पियनशिप में उसका अब तक का बेस्ट प्रदर्शन है। बैंकाक में 2019 में भारत ने 13 पदक (2 स्वर्ण, 4 रजत और 7 कांस्य) जीते थे और तालिका में तीसरे स्थान पर रहा था। भारत ने इस टूनामेंट में एक गोल्ड , चार सिल्वर और आठ कांस्य पदक अपने नाम किए हैं।

संबंधित खबरें