फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News खेलतीरंदाजी विश्व कप 2024 में भारत ने कोरिया को दी मात, गोल्ड मेडल पर किया कब्जा 

तीरंदाजी विश्व कप 2024 में भारत ने कोरिया को दी मात, गोल्ड मेडल पर किया कब्जा 

तीरंदाजी विश्व कप 2024 में भारत की मेंस टीम ने कोरिया को मात दी और गोल्ड मेडल पर कब्जा किया। कोरिया की टीम मौजूदा ओलिंपिक चैंपियन है, लेकिन आर्चरी वर्ल्ड कप स्टेज 1 में भारत ने उनको हराया है। 

तीरंदाजी विश्व कप 2024 में भारत ने कोरिया को दी मात, गोल्ड मेडल पर किया कब्जा 
Vikash Gaurलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 29 Apr 2024 10:54 AM
ऐप पर पढ़ें

रिकर्व आर्चरी में भारतीय टीम ने कमाल कर दिया। भारत की मेंस टीम ने कोरिया को हराकर आर्चरी वर्ल्ड कप 2024 में गोल्ड पर कब्जा जमाया है। भारत ने ओलिंपिक गोल्ड मेडलिस्ट कोरिया की टीम को रविवार को संघाई में बूंदाबांदी के बीच मात दी। भारत ने मौजूदा ओलिंपिक चैंपियन दक्षिण कोरिया को हराकर तीरंदाजी विश्व कप स्टेज 1 में मेंस रिकर्व टीम का स्वर्ण पदक जीता। भारत ने इस मुकाबले को 5-1 से अपने नाम किया। यह परिणाम ना सिर्फ टीम इंडिया के लिए चौंकाने वाला रहा है, बल्कि इससे मेंस टीम के पेरिस ओलिंपक क्वॉलिफिकेशन के चांस भी बढ़ गए हैं।  

धीरज बोम्मदेवरा, तरूणदीप राय और प्रवीण जाधव की तिकड़ी ने उस तीरंदाजी देश के खिलाफ लगभग अकल्पनीय प्रदर्शन किया जो मजे-मजे में विश्व कप पदक हड़प लेता है। यह कोई साधारण कोरियाई टीम नहीं थी, जिसे भारत ने हराया है। इस टीम में किम जे-देओक और किम वू-जिन भी शामिल थे, जो टोक्यो ओलिंपिक खेलों के दौरान गोल्ड मेडल जीतने वाली टीम का हिस्सा थे। वहीं, ली वू-सेओक उस तिकड़ी में तीसरे खिलाड़ी थे, जिन्होंने पिछले साल एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीता था। इस तरह ये जोड़ी भारतीय खिलाड़ियों से ज्यादा अनुभवी थी, लेकिन भारत ने कमाल कर दिखाया। 

चैम्पियंस ट्रॉफी 2025 को लेकर PCB ने ICC को सौंपा प्लान, भारत के मैच भी पाकिस्तान में ही किए शेड्यूल, क्या BCCI डालेगा अड़ंगा?

आपकी जानकारी के लिए बता दें, यह 14 वर्षों में भारत का पहला विश्व कप मेंस टीम गोल्ड मेडल है। आखिरी जीत शंघाई में ही भारत ने 2010 में हासिल की थी। उस समय राहुल बनर्जी, जयंत तालुकदार और तरुणदीप राय की तिकड़ी ने देश को स्वर्ण पदक दिलाया था। तरुण उस टीम का भी हिस्सा थे और 2024 में गोल्ड मेडल जीतने वाली टीम का भी हिस्सा हैं। अब तक तीरंदाजी में पेरिस गेम्स का कोटा हासिल करने वाले एकमात्र भारतीय धीरज ने शंघाई से कहा, "यह परिणाम और पदक ओलिंपिक ईयर में हमारा मनोबल बढ़ाएगा।”