DA Image
हिंदी न्यूज़ › खेल › महिला हॉकी के निराशाजनक प्रदर्शन के बावजूद, टोक्यो में आज का दिन रहा देश की बेटियों के नाम
खेल

महिला हॉकी के निराशाजनक प्रदर्शन के बावजूद, टोक्यो में आज का दिन रहा देश की बेटियों के नाम

लाइव हिन्दुस्तान टीम ,नई दिल्ली Published By: Guest2
Wed, 28 Jul 2021 10:22 PM
महिला हॉकी के निराशाजनक प्रदर्शन के बावजूद, टोक्यो में आज का दिन रहा देश की बेटियों के नाम

टोक्यो ओलंपिक में बुधवार का दिन भारत की लड़कियों के नाम रहा। उम्मीद के मुताबिक बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु और तीरंदाज दीपिका कुमारी अगले दौर में पहुंच गई तो मुक्केबाजी में पूजा रानी ने विजयी पंच लगाया। हालांकि हार की हैट्रिक के बाद महिला हॉकी टीम की क्वार्टर फाइनल की राह काफी मुश्किल हो गई है। पहले दिन मीराबाई चानू के रजत पदक के बाद भारत का पदक का इंतजार अभी भी खत्म नहीं हुआ है। अभी तक तीरंदाज दीपिका कुमारी और बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु ने अपने शानदार खेल की बदौलत भारतीय उम्मीदों को जिंदा रखा है। 


तीरंदाजी में दीपिका के तीर निशाने पर लगे लेकिन पुरुष वर्ग में तरुणदीप राय और प्रवीण जाधव बाहर हो गए। वहीं बैडमिंटन में रियो ओलंपिक की रजत पदक विजेता सिंधू जीतीं लेकिन बी साइ प्रणीत हार गए। नौकायन में अर्जुन लाल जाट और अरविंद सिंह, पदक की दौड़ से बाहर हो गए हैं।      

बैडमिंटन में विश्व चैंपियन सिंधु ने ग्रुप जे में हांगकांग की एनवाई चियुंग को हराकर महिला एकल स्पर्धा के प्री क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया। उन्होंने दुनिया की 34वें नंबर की खिलाड़ी चियुंग को 35 मिनट चले मुकाबले में 21-9 21-16 से हराकर ग्रुप में शीर्ष स्थान हासिल किया। सिंधु की चियुंग के खिलाफ छह मुकाबलों में यह छठी जीत है। सिंधु ने मैच के बाद कहा, 'दूसरे गेम में मैंने लय हासिल की और फिर जीत दर्ज की। यह काफी तेज मुकाबला था और मैंने कुछ गलतियां भी की। मैंने अपनी रणनीति में बदलाव किया और चीजों पर नियंत्रण करने में सफल रही। बड़े मुकाबले से पहले इस तरह की परीक्षा महत्वपूर्ण होती है।' दुनिया की सातवें नंबर की खिलाड़ी सिंधु प्री क्वार्टर फाइनल में ग्रुप आई में शीर्ष पर रहने वाली डेनमार्क की दुनिया की 12वें नंबर की खिलाड़ी मिया ब्लिचफेल्ट से भिड़ेंगी। पुरुष वर्ग में भारत के 13वें वरीय प्रणीत अपना सर्वश्रेष्ठ खेल नहीं दिखा पाए और नीदरलैंड के मार्क कालजोव से 40 मिनट तक चले मैच में सीधे गेम में 14-21, 14-21 से हार गए। यह उनकी ग्रुप डी में दूसरी हार थी।

तीरंदाजी में दीपिका ने व्यक्तिगत स्पर्धा के तीसरे दौर में जगह बनायी लेकिन तरुणदीप राय और प्रवीण जाधव दूसरे दौर से आगे बढ़ने में नाकाम रहे। महिला रिकर्व व्यक्तिगत वर्ग के पहले दौर में भूटान की कर्मा को 6-0 से हराया लेकिन 24वीं वरीयता प्राप्त अमेरिकी जेनिफर मुसिनो फर्नाडिस से उन्हें कड़ी चुनौती मिली। दीपिका ने यह मैच 6-4 से जीता। दीपिका का यह ओलंपिक खेलों में व्यक्तिगत वर्ग में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। पुरुष वर्ग में तरुणदीप और जाधव दूसरे दौर से आगे नहीं बढ़ पाए। तरुणदीप को अपने से कम रैंकिंग के इजराइली खिलाड़ी इताय शैनी से शूट ऑफ में 5-6 से हार का सामना करना पड़ा जबकि जाधव अमेरिका के विश्व में नंबर एक ब्राडी एलिसन से 0-6 से हार गए। 

भारतीय मुक्केबाज पूजा रानी (75 किग्रा) ने शुरूआती मुकाबले में अल्जीरिया की इचरक चाएब को 5-0 से पराजित कर क्वार्टरफाइनल में प्रवेश किया। तीस साल की भारतीय ने पूरे मुकाबले के दौरान अपने से 10 साल जूनियर प्रतिद्वंद्वी पर दबदबा बनाए रखा।

हॉकी में भारतीय महिला टीम का निराशाजनक प्रदर्शन लगातार जारी है। हॉकी में भारत की महिला टीम को दूसरे हाफ में बेहतर प्रदर्शन के बावजूद धीमी शुरुआत का खामियाजा ग्रेट ब्रिटेन के खिलाफ 1-4 की हार के साथ भुगतना पड़ा। भारत को इससे पहले विश्व में नंबर एक नीदरलैंड के खिलाफ 1-5 और जर्मनी के खिलाफ 0-2 से हार झेलनी पड़ी थी। भारतीय टीम को पूल ए में अपने अंकों का खाता खुलने का अब भी इंतजार है। भारत छह टीमों के पूल में पांचवें स्थान पर है। टीम को अगर क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने की उम्मीदों को जीवंत रखना है तो अपने अंतिम दो मैचों में आयरलैंड और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हर हाल में न सिर्फ जीत दर्ज करनी होगी बल्कि बड़े अंतर से जीत दर्ज करनी होगी।

नौकायन में अर्जुन और अरविंद दूसरे सेमीफाइनल में छठे और आखिरी स्थान पर रहकर पुरुषों के लाइटवेट डबल स्कल्स के फाइनल में जगह बनाने में नाकाम रहे। अर्जुन और अरविंद ने सी फोरेस्ट वाटरवे में छह टीमों के दूसरे सेमीफाइनल में छह मिनट 24.41 सेकेंड का समय लिया और यह भारतीय जोड़ी अंतिम स्थान पर रही। दोनों सेमीफाइनल में चोटी पर रहने वाली तीन-तीन टीमें फाइनल के लिए क्वालीफाई करती हैं। अर्जुन और अरविंद का सेमीफाइनल में पहुंचना ओलंपिक में भारतीयों नौकाचालकों का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। 

सेलर के गणपति और वरूण ठक्कर की भारतीय जोड़ी बुधवार को यहां तोक्यो ओलंपिक की पुरूषों की स्किफ 49 सेलिंग (पाल नौकायान) स्पर्धा की चार रेस के बाद 18वें स्थान पर रही। भारतीय जोड़ी बुधवार को हुई रेस में 18वें, 17वें और 19वें स्थान पर रही। मंगलवार को इनोशिमा याट हार्बर में 19 टीम की पहली रेस में वे 18वें स्थान पर रहे थे।

संबंधित खबरें