फोटो गैलरी

Hindi News खेलTokyo Paralympics 2020: क्लोजिंग सेरेमनी में भारतीय दल की ध्वजवाहक होंगी 'गोल्डन गर्ल' अवनी लेखरा

Tokyo Paralympics 2020: क्लोजिंग सेरेमनी में भारतीय दल की ध्वजवाहक होंगी 'गोल्डन गर्ल' अवनी लेखरा

टोक्यो ओलंपिक की बात करें या पैरालिंपिक्स की, भारतीय एथलीट ने अपना झंडा गाड़ दिया है। इस साल टोक्यो अपने ओलंपिक इतिहास के सर्वश्रेष्ठ ओलंपिक खेलने के बाद पैरालिंपिक्स में भी भारत ने झंडा बुलंद रखा।...

Tokyo Paralympics 2020: क्लोजिंग सेरेमनी में भारतीय दल की ध्वजवाहक होंगी 'गोल्डन गर्ल' अवनी लेखरा
लाइव हिन्दुस्तान टीम ,नई दिल्ली Sat, 04 Sep 2021 08:46 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

टोक्यो ओलंपिक की बात करें या पैरालिंपिक्स की, भारतीय एथलीट ने अपना झंडा गाड़ दिया है। इस साल टोक्यो अपने ओलंपिक इतिहास के सर्वश्रेष्ठ ओलंपिक खेलने के बाद पैरालिंपिक्स में भी भारत ने झंडा बुलंद रखा। खबर लिखे जाने तक भारत ने 17 मेडल अपने नाम कर लिए थे। हालांकि अभी कुछ खिलाड़ियों के मेडल मैच बाकी हैं। कल टोक्यो पैरालिंपिक्स 2020 का अंतिम दिन है। कल समापन समारोह के बाद पैरालिंपिक्स 2020 का आधिकारिक रूप से समापन हो जाएगा। 

IND vs ENG: विदेशी धरती पर रोहित के बल्ले से निकला पहला शतक, सिक्स मारकर हासिल की उपलब्धि

समापन समारोह में भारत की ध्वजावाहक इस पैरालिंपिक्स में दो मेडल जीतने वाली शूटर अवनी लेखरा होंगी। इस समापन समारोह में 11 भारतीय खिलाड़ी हिस्सा लेंगे। अवनी के लिए ये पैरालिंपिक्स किसी सपने से कम नहीं। पहले उन्होंने 10 मीटर एयर राइफल में भारत के लिए स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रच दिया। पैरालिंपिक खेलों के इतिहास में यह पहली बार हुआ था कि भारत के शूटर ने गोल्ड मेडल जीता हो। अवनी यहीं नहीं रुकी, 10 मीटर एयर राइफल में सोना जीतने के बाद उन्होंने 50 मीटर एयर राइफल के मुकाबले में कांस्य पर निशाना साधा और एक ही ओलंपिक में दो मेडल जीतने वाली पहली महिला पैरा खिलाड़ी बन गई। 

 

IND vs ENG: रॉरी बर्न्स ने रोहित शर्मा का टपकाया कैच, माइकल वॉन ने कसा तंज

IND vs ENG: दर्द में नजर आए चेतेश्वर पुजारा, रन लेते समय मुड़ा टखना-VIDEO

2016 के रियो पैरालिंपिक्स में मात्र 4 मेडल जीतने वाली भारतीय टीम ने टोक्यो में शानदार प्रदर्शन किया। भारतीय खिलाड़ियों ने अब तक 4 गोल्ड, 7 सिल्वर और 6 ब्रॉन्ज के साथ 17 मेडल अपने नाम कर चुके हैं। मेडल की सूची में भारत 26वें पायदान पर काबिज है। 87 गोल्ड के साथ 200 मेडल लेकर चीन नंबर एक पर मौजूद है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें