DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   खेल  ›  अमेरिका में कोरोना के खिलाफ जंग में मिल्खा सिंह की बेटी दे रहीं अहम योगदान, पूर्व ओलंपियन बोले-हमें गर्व है
खेल

अमेरिका में कोरोना के खिलाफ जंग में मिल्खा सिंह की बेटी दे रहीं अहम योगदान, पूर्व ओलंपियन बोले-हमें गर्व है

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Mohan
Wed, 22 Apr 2020 07:13 PM
अमेरिका में कोरोना के खिलाफ जंग में मिल्खा सिंह की बेटी दे रहीं अहम योगदान, पूर्व ओलंपियन बोले-हमें गर्व है

इस समय पूरा विश्व कोरोना वायरस जैसी जानलेवा बीमारी का प्रकोप झेल रहा है। भारत में भी यह बीमारी तेजी से फैलती जा रही है वहीं वर्ल्ड पावर अमेरिका पर इसकी सबसे ज्यादा गाज गिरी है और इस समय यहां 8 लाख से ज्यादा लोग इस बीमारी से संक्रमित हो गए हैं वहीं 45 हजार से ज्यादा लोगों ने अपनी जान गंवा दी है। इस हालत में डॉक्टर लोगों को बचाने के लिए हरसंभव प्रयास कर रहे हैं। इस बीच भारत के पूर्व ओलंपियन मिल्खा सिंह की बेटी मोना मिल्खा सिंह भी अमेरिका में कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में अहम योगदान दे रही हैं। उनके इस योगदान पर मिल्खा सिंह ने अपनी बात रखी है।

अपने जमाने के दिग्गज एथलीट रहे मिल्खा सिंह ने कहा है कि उन्हें अपनी बेटी पर गर्व है। वह अपने देश का नाम ऊंचा कर रही हैं। मिल्खा सिंह ने कहा कि मेरी बेटी मोना मिल्खा सिंह न्यूयॉर्क में डॉक्टर है। हमें उस पर बहुत गर्व है। वह हमसे रोज बात करती है और हमें खुद की देखभाल करने के लिए कहती है। हम उसके बारे में सोचकर चिंतित हैं लेकिन उसे अपना कर्तव्य निभाना है।

बता दें कि मोना मिल्खा सिंह न्यूयॉर्क के मेट्रोपोलिटन हॉस्पिटल सेंटर में डॉक्टर हैं। उनके भाई मशहूर गोल्फर और चार बार के यूरोपीय टूर चैम्पियन जीव मिल्खा सिंह ने कुछ दिन पहले बताया था कि वो न्यूयॉर्क के मेट्रोपोलिटन हॉस्पिटल में एमरजेंसी वॉर्ड में डॉक्टर हैं। जब भी कोरोना के लक्षण वाला कोई मरीज आता है तो उसे ट्रीटमेंट करना होता है। उन्होंने कहा कि वो पहले मरीज की जांच करती है, जिसके बाद उन्हें आइसोलेशन के लिए स्पेशल वॉर्ड में भेजा जाता है। 54 वर्ष की मोना ने पटियाला से एमबीबीएस किया और उसके बाद अमेरिका में बस गईं।
 

संबंधित खबरें