DA Image
5 दिसंबर, 2020|8:57|IST

अगली स्टोरी

पूर्व भारतीय गोलकीपर भास्कर मैती का नवी मुंबई में हुआ निधन

football representational image  aiff

भारत के पूर्व गोलकीपर भास्कर मैती का नवी मुंबई अस्पताल में बुधवार को मस्तिष्क रक्तस्राव के कारण निधन हो गया। वह 67 वर्ष के थे। मैती के परिवार में उनकी पत्नी, एक बेटा और एक बेटी है। उनके पारिवारिक मित्र शशिकांत प्रसाद ने पीटीआई से कहा कि उनका (मैती) वाशी में एमजीएम अस्पताल में शाम करीब छह बजे मस्तिष्क रक्तस्राव के बाद निधन हो गया।

AIG महिला ओपन में इतिहास रखने उतरेंगी भारतीय गोल्फर तिकड़ी

मैती ने बैंकॉक 1978 एशियाई खेलों के दौरान इराक के खिलाफ भारत का प्रतिनिधित्व किया था। वह संतोष ट्रॉफी में महाराष्ट्र के लिए 1975 से 1979 तक खेले थे। वह 1974 से 1980 तक मफतलाल स्पोर्ट्स क्लब और 1981 से 1982 तक राष्ट्रीय कैमिकल्स एवं फर्टीलाइजर्स (आरसीएफ) की ओर से खेले थे। संन्यास के बाद वह आरसीएफ फुटबॉल टीम के कोच बन गए थे।

बार्सिलोना में उथल-पुथल के बीच मेस्सी के भविष्य पर सवालिया निशान

अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ के अध्यक्ष प्रफुल्ल पटेल ने मैती के निधन पर दुख प्रकट किया। उन्होंने शोक संदेश में कहा कि भास्कर मैती के निधन की खबर सुनकर बहुत दुख हुआ। उनका योगदान काफी महत्वपूर्ण रहा। महासंघ के महासचिव कुशल दास ने भी शोक व्यक्त करते हुए कहा कि प्रतिभाशाली भास्कर मैती कई के लिए प्रेरणास्रोत थे। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे। 
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Ex-India goalkeeper Bhaskar Maity no more