DA Image
Monday, November 29, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ खेलडेनमार्क ओपन: पीवी सिंधु टूर्नामेंट से बाहर, समीर वर्मा क्वार्टर फाइनल में पहुंचे

डेनमार्क ओपन: पीवी सिंधु टूर्नामेंट से बाहर, समीर वर्मा क्वार्टर फाइनल में पहुंचे

भाषा,ओडेन्सेMohan Kumar
Fri, 22 Oct 2021 08:15 PM
डेनमार्क ओपन: पीवी सिंधु टूर्नामेंट से बाहर, समीर वर्मा क्वार्टर फाइनल में पहुंचे

दो बार की ओलंपिक पदक विजेता पीवी सिंधु ब्रेक के बाद वापसी करते हुए डेनमार्क ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल में कोरिया की अन सियंग से हारकर बाहर हो गईं। अगस्त में टोक्यो ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीतने के बाद पहला मैच खेल रही सिंधु पांचवीं वरीयता प्राप्त अपनी प्रतिद्वंद्वी का सामना नहीं कर सकी और 36 मिनट में 11-21, 12-21 से हार गईं। पिछली बार भी वे अन सियंग से सीधे गेम में हार गई थीं, जब दो साल पहले दोनों का मुकाबला हुआ था। सियंग ने शानदार शुरुआत करके छह मिनट के भीतर ही सात प्वॉइंट्स की बढ़त बना ली।

सिंधु ने कई सहज गलतियां की, जिनका कोरियाई खिलाड़ी ने फायदा उठाया। उसने जल्दी ही बढ़त 16-8 की कर ली और आखिर में सिंधु ने उसे 10 गेम प्वाइंट गंवाकर पहला गेम सौंप दिया। दूसरे गेम में भी कहानी लगभग यही रही। ब्रेक तक सिंधु ने वापसी की कोशिश की, लेकिन उसके बाद खेल एकतरफा हो गया। सिंधु ने गुरुवार को थाईलैंड की बुसानन ओंगबोमरंगफान को 67 मिनट में 21-16, 12-21, 21-15 से हराया था।

टी-20 वर्ल्ड कप: नामीबिया ने फेरा आयरलैंड के अरमानों पर पानी, बनाई सुपर 12 में जगह

इससे पहले भारत के समीर वर्मा ने दुनिया के नंबर तीन खिलाड़ी एंडर्स एंटोनसेन को सीधे गेम में हराकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया, लेकिन लक्ष्य सेन हारकर बाहर हो गए। दुनिया में 28वें नंबर के समीर ने बेहतरीन खेल का नजारा पेश करके स्थानीय खिलाड़ी एंटोनसेन को 21-14, 21-18 से हराया। मेन्स सिंगल्स का यह मैच 50 मिनट तक चला। मध्य प्रदेश का यह 27 वर्षीय खिलाड़ी अगले दौर में 33 वर्षीय टॉमी सुगियार्तो का सामना करेगा। लक्ष्य सेन हालांकि ओलंपिक चैंपियन विक्टर एक्सेलसन का सामना नहीं कर पाए और आसानी से हार गए। एक्सेलसन ने भारतीय खिलाड़ी को 21-15, 21-7 से पराजित किया।

टी-20 वर्ल्ड कप के आगाज मैच में कंगारुओं के सामने दक्षिण अफ्रीका की चुनौती, इस मामले में दोनों ही पिछड़ रहीं

इससे पहले समीर और एंटोनसेन के बीच जो छह मैच खेले गए थे, उनमें से भारतीय खिलाड़ी ने केवल एक मैच जीता था। समीर ने हालांकि पहले गेम में शुरू में ही 2-0 की बढ़त बना दी और ब्रेक तक वह 11-6 से आगे थे। भारतीय खिलाड़ी ने इसके बाद भी डेनमार्क के खिलाड़ी के वापसी के सारे प्रयासों को विफल किया। उन्होंने लगातार तीन प्वॉइंट्स बनाकर पहला गेम अपने नाम किया। दूसरा गेम थोड़ा कड़ा था, लेकिन समीर ने शुरू में 5-3 से दो प्वॉइंट्स की बढ़त बनाई तथा मध्यांतर तक वह 11-8 से आगे थे। इसके बाद उन्होंने एंटोनसेन को वापसी का कोई मौका नहीं दिया।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें